Computer Network क्या है? (What is Computer Network in Hindi)

क्या आपको पता है कि जो इंटरनेट आप अभी उपयोग कर रहे है वो इंटरनेट किससे मिलकर बना है? अगर आपको नहीं पता तो मैं आपको बता दूँ कि ये जो इंटरनेट है वो कई सारे नेटवर्क से मिलकर बना है | 

मगर ये नेटवर्क क्या है? (What is Computer Network in Hindi) इसका क्या उपयोग है? ये कुछ सवाल है जिनके बारे में आज हम बात करना वाले है | 

तो आज हम विस्तार से जानेंगे कि नेटवर्क, जिसे हम कंप्यूटर फील्ड में कंप्यूटर नेटवर्क भी कहते है वो क्या है? (What is Computer Network in Hindi ) और कंप्यूटर नेटवर्क कितने प्रकार के होते है? (Types of Computer Network in Hindi )

तो चलिए सबसे पहले जानते है कि कंप्यूटर नेटवर्क क्या है? (What is Computer Network in Hindi)

कंप्यूटर नेटवर्क क्या है? (What is Computer Network in Hindi)
कंप्यूटर नेटवर्क क्या है? (What is Computer Network in Hindi)

Computer Network Kya Hai? (What is Computer Network in Hindi)

Computer Network एक ऐसा सिस्टम है जिसमे कई सारे कंप्यूटर (जैसे – डेस्कटॉप, लैपटॉप  स्मार्टफोन, टेबलेट्स, सर्वर आदि कंप्यूटिंग डिवाइस ) आपस में एक दूसरे से Connect होते है और डेटा तथा फाइल्स का आदान प्रदान करते है | 

कंप्यूटर नेटवर्क में जितने भी डिवाइस है वो सभी आपस में वायर या वायरलेस मीडिया के माध्यम से कनेक्ट होते है | 

हर नेटवर्क में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर शामिल होते हैं जो कंप्यूटर और टूल को एक दूसरे से जोड़ता है।

जैसे कि ऊपर मैंने कहा कि कंप्यूटर नेटवर्क, कई सारे कंप्यूटिंग डिवाइस के एक दूसरे से जुड़ने से बनता है और ये डिवाइस आपस में जुड़ने के लिए कुछ हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर कम्पोनेंट्स का उपयोग करते है | 

तो आइये अब हम जानते है कंप्यूटर नेटवर्क में उपयोग होने वाले कुछ हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर कंपोनेंट्स के बारे में | 

Computer Network Components

कंप्यूटर को आपस में जोड़कर कम्युनिकेशन (डेटा का आदान प्रदान ) करने में सक्षम बनाने वाले कुछ मुख्य कंपोनेंट्स निम्न है -:

Hardware Components

Connecting devices -: ये कंप्यूटर और नेटवर्क के बीच का मिडलवेयर हैं जो उन्हें एक साथ बांधता है। 

कंप्यूटर और नेटवर्क को कनेक्ट करने वाले कुछ Connecting Devices निम्न हैं –

  • Bridges
  • Routers
  • Gateways
  • Hubs
  • Switches
  • Repeaters

Servers -: सर्वर्स ऐसे कंप्यूटर होते है जिसमे डेटा और इनफार्मेशन स्टोर होता है | इन डेटा और इनफार्मेशन को सर्वर से नेटवर्क में ट्रांसफर किया जाता है | 

Client -: क्लाइंट एक कंप्यूटर है जो नेटवर्क में मौजूद अन्य कंप्यूटरों से जुड़ा होता है और अन्य कंप्यूटरों द्वारा भेजे गए डेटा को प्राप्त कर सकता है।

Transmission Media -: नेटवर्क के अंदर जितने भी कम्प्यूटर्स है सभी आपस में किसी न किसी ट्रांसमिशन मीडियम (जैसे – optical fiber cables, coaxial cables, microwaves, infra-red waves आदि) के माध्यम से जुड़े है जो इनके बिच डेटा ट्रांसफर को संभव बनाते है | इसे लिंक, चैनल या lines के रूप में भी जाना जाता है।

Network interface card -: कंप्यूटर नेटवर्क में जितने भी कंप्यूटर है उन सभी के पास एक कार्ड होता है जिसे Network Interface card (NIC) कहते है | यह एक हार्डवेयर है जो कंप्यूटर को नेटवर्क के साथ कनेक्ट होने में मदद करता है |

Network Interface card (NIC) में कंप्यूटर का mac address होता है जिसे कंप्यूटर का फिजिकल एड्रेस भी कहते है | 

Network Interface card (NIC) कंप्यूटर और नेटवर्क के बीच डेटा प्रवाह को नियंत्रित करता है। एक NIC डेटा भेज और प्राप्त कर सकता है।

Access points -: यह devices को बिना किसी केबल के नेटवर्क में जुड़ने की अनुमति प्रदान करता है | 

Software Components 

Networking Operating System -:नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम एक ऐसा प्रोग्राम है जो आम तौर पर सर्वर के अंदर रन होते है | यह कंप्यूटर को नेटवर्क के माध्यम से कम्युनिकेशन करने की अनुमति प्रदान करता है |  

Protocol -: प्रोटोकॉल कुछ रूल्स और दिशानिर्देश होते है जिसको नेटवर्क में मौजूद हर कंप्यूटर डेटा और इनफार्मेशन शेयर करते समय फॉलो करता है जिससे की उन devices की बिच प्रॉपर कम्युनिकेशन हो सके | 

कुछ पॉपुलर प्रोटोकॉल – IP, TCP, UDP, FTP आदि है | 

दोस्तों यहाँ तक आपको समझ आ गया होगा की कंप्यूटर नेटवर्क क्या है और कंप्यूटर नेटवर्क में कौन कौन से कंपोनेंट्स उपयोग होते है | 

आइये अब हम जानते है की कंप्यूटर नेटवर्क कितने प्रकार के होते है ?

कंप्यूटर नेटवर्क के प्रकार ( Types of Computer Network In Hindi)

कंप्यूटर नेटवर्क कई प्रकार के है जिनको अलग अलग लोगो और ऑर्गेनाइजेशन द्वारा अलग अलग उद्देश्य से किया जाता है | 

कंप्यूटर नेटवर्क को उनके आकार के आधार पर  मुख्य रूप से चार प्रकारो में बांटा जा सकता है। 

  1. LAN(Local Area Network)
  2. PAN(Personal Area Network)
  3. MAN(Metropolitan Area Network)
  4. WAN(Wide Area Network)

1. LAN (Local Area Network) -:

Local Area Network, लोकल एरिया में ऑपरेटर होते है यह एक स्माल एरिया में स्थित दो या से अधिक कंप्यूटर को आपस में जोड़ने से बनता है | लोकल एरिया नेटवर्क का उपयोग आमतौर पर घरों, ऑफिस, स्कूल में किया जाता है |  

लोकल एरिया नेटवर्क में डेटा ट्रांसफर रेट काफी ज्यादा होता है | लोकल एरिया नेटवर्क ज्यादा सिक्योरिटी प्रदान करता है | 

लोकल एरिया नेटवर्क में devices वायर या वायरलेस माधयम से कनेक्ट होते है | मगर ज्यादातर लोकल एरिया नेटवर्क में कंप्यूटर ईथरनेट केबल के माधयम से कनेक्ट होते है  जो की काफी कम कॉस्टली होता है |

2. PAN(Personal Area Network) -:

Personal Area Network, किसी एक  व्यक्ति के अराउंड arrange होता है | जिसकी रेंज आम तौर पर 10 मीटर की सीमा के भीतर होती है | 

इस नेटवर्क का उपयोग आमतौर पैर किसी व्यक्ति द्दारा पर्सनल उपयोग के कंप्यूटर उपकरणों  और डिवाइस को जोड़ने के लिए किया जाता है इसलिए इसे पर्सनल एरिया नेटवर्क के रूप में जाना जाता है।

Thomas Zimmerman पहले ऐसे सख्त थे जिन्होंने पर्सनल एरिया नेटवर्क का उपयोग अपने devices को जोड़ने के लिए किया | 

परसनल एरिया नेटवर्क के द्वारा हम अपने कंप्यूटर, मोबाइल, हैडफ़ोन आदि को आपस में कनेक्ट कर सकते है | 

For example – जब आपने अपने मोबाइल को किसी कंप्यूटर के साथ केबल के माध्यम से कनेक्ट करते है तो ये एक Personal Area Network कहलाता है | 

परसनल एरिया नेटवर्क में डिवाइस आपस में वायर और वायरलेस दोनों तरीकों से कनेक्ट हो सकते है जैसे की आपने कभी न कभी आपने मोबाइल और अपने दोस्तों के मोबाइल को ब्लूटूथ या wi-fi द्वारा कनेक्ट किये ही होंगे तो एक वायरलेस पर्सनल एरिया नेटवर्क का उदाहरण है जिसमे डिवाइस आपस में वायरलेस मीडिया के माध्यम से कनेक्ट है |

3. MAN (Metropolitan Area Network)

लेट्रोपोलिटन एरिया नेटवर्क (Metropolitan Area Network ), हाई स्पीड नेटवर्क है जो एक बहुत बड़े जियोग्राफिक एरिया को कवर करता है |

यह राऊटर और local telephone exchange lines द्दारा जुड़े LAN के एक सेट है जिसे कोई निजी कंपनी या किसी लोकल टेलीकॉम कंपनी द्वारा ऑपरेट किया जा सकता है | 

MAN में सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले प्रोटोकॉल RS-232, फ़्रेम रिले, एटीएम, ISDN, OC-3, ADSL, आदि हैं। 

MAN , WAN से छोटे तथा LAN से बड़े एरिया को कवर करता है | इसकी रेंज 5 से 50 किलोमीटर होता है | 

Uses of MAN 

  • इसका उपयोग एक सिटी में स्थित बैंक्स के बिच कम्युनिकेशन करने के लिए  किया जाता है | 
  • इसका उपयोग एयरलाइन रिजर्वेशन में किया जा सकता है।
  • यह एक शहर के भीतर स्थित कॉलेज में इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • एक शहर में जुड़े हुए फायर स्टेशन को कनेक्ट करें के लिए भी उपयोग किया जाता है 
  • एक शहर में एक स्कूल की कनेक्टेड शाखाएँ के बिच कम्युनिकेशन के लिए किया जाता है |

4. WAN (Wide Area Network)

WAN एक बहुत बड़े जियोग्राफिक एरिया में फैला हुवा नेटवर्क है जो MAN की तरह ही होता है मगर यह MAN से ज्यादा बड़े एरिया को कवर करता है | इसकी रेंज 50 km से भी ज्यादा होती है | इसका उपयोग कई देशो के नेटवर्क को जोड़ने , कम्पनीज और बैंको को अपनी शाखाओ और कॉस्टरमर से कम्युनिकेशन करने आदि में किया जाता है | 

इंटरनेट दुनिया का सबसे बड़ा WAN है | कम्प्यूटर्स , पब्लिक नेटवर्क जैसे टेलीफोन सिस्टम , लीज्ड लाइन और satellite  के द्वारा WAN से कनेक्टेड होते है | 

Examples of WAN

  • स्टॉक एक्सचेंज नेटवर्क
  • रेलवे आरक्षण प्रणाली
  • सैटेलाइट सिस्टम

तो दोस्तों ये थे कुछ कंप्यूटर नेटवर्क जिसके माध्यम से हम एक दूसरे से जुड़ पाते है और डेटा तथा इनफार्मेशन को शेयर करते है | 

निष्कर्ष

दोस्तों आशा करता हु कि आज के इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको नेटवर्क क्या है? ( What is Computer Network in Hindi ) इसका क्या उपयोग है? से संबंधित सभी जानकारी मिल गई होगी और आपको और कही इसके बारे में सर्च करना नहीं पड़ेगा |

अगर आप कंप्यूटर फंडामेंटल Complete Tutorial चाहते है तो मेरे इस आर्टिकल Computer Fundamental Tutorial In Hindi को देखे | यहाँ आपको कंप्यूटर फंडामेंटल्स के सभी टॉपिक्स step by step मिल जाएगी |

दोस्तों आशा करता हु कि आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी और आपको Computer Network Kya Hai ? के बारे में काफी जानकरी हुई होगी |

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया है तो इस पोस्ट को अपने अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी ये जानकारी प्राप्त हो सके |

अगर आपको अभी भी Computer Network In Hindi से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप जरूर बताये मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

एसी ही नया टेक्नोलॉजी , Computer science से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी |

Thank you आपका दिन मंगलमय हो |

पढ़ते रहिए और बढ़ते रहिए | Keep Reading and Keep Growing

Jeetu Sahu is A Web Developer | Computer Engineer | Passionate about Coding, Competitive Programming and Blogging