Python क्या है? (What is Python Language in Hindi)

हेलो फ्रेंड्स आज हम बात करने वाले हैकर्स के चहेते, Beginners की पसंद Python Language के बारे में | 

आज हम विस्तार से जानेंगे कि पाइथन क्या है? (What is Python in Hindi) इसका इतिहास क्या है? (History of Python in Hindi) इसके फीचर्स क्या है (Features of Python in Hindi) तथा आप पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कैसे और कहा से सिख सकते है? (How to learn Python in Hindi) 

तो चलिए बिना समय गवाए सबसे पहले जानते है कि पाइथन लैंग्वेज क्या है? (What is Python Language in Hindi)

Python क्या है? (What is Python Language in Hindi)
Python क्या है? (What is Python Language in Hindi)

पाइथन क्या है? ( What is Python in Hindi )

पाइथन एक हाई लेवल, जनरल पर्पस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसका उपयोग web development, software development, system scripting और Machine Learning applications, आदि कार्यों में किया जाता है | 

पाइथन एक interpreted programming language है, जिसको Guido van Rossum ने 1989 में बनाया था | 

अगर आप एक Beginner है और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीख कर सॉफ्टवेयर फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते है तो आप इसकी शुरुआत पाइथन लैंग्वेज से कर सकते है क्योकि, पाइथन एक सिंपल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसके सिंटेक्स काफी आसान होते है जिसे एक नार्मल व्यक्ति द्वारा देख कर आसानी से समझा जा सकता है | 

पाइथन एक ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसका इस्तेमाल आज कल Software Industry में काफी ज्यादा हो रहा है | 

पाइथन लैंग्वेज सीखना बाकि सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की तुलना में काफी आसान है क्योकि इसमें इंग्लिश जैसे कमांड होते है जो एक नार्मल यूजर द्वारा आसानी से समझा जा सकता है | 


पाइथन का इतिहास (History of Python in Hindi)

पाइथन जैसे लैंग्वेज का आईडिया 1980 के दशक में ही आ गया था मगर इसका वास्तविक इम्प्लीमेंटेशन दिसंबर 1989 में शुरू हुवा और करीब एक साल बाद 27 February 1991 में यह रिलीज़ हुवा |

ये वही समय था जब जावा लैंग्वेज भी मार्केट में आया था. मगर पाइथन लैंग्वेज का पहला प्रोफेशनल वर्जन January 1994 में आया था जिसे Python 1.0 कहा गया | 

पाइथन लैंग्वेज को Guido Van Rossum द्वारा Netherland के CWI (Centrum Wiskunde & Informatica) में रिसर्च के दौरान बनाया गया था | 

Guido Van Rossum ने पाइथन लैंग्वेज पर December 1989 में कार्य करना स्टार्ट किया था और February 1991 में इसका पहला संस्करण (labeled version 0.9.0) पब्लिश किया था | 

इसके बाद सन 1994 में कुछ नए फीटर्स (जैसे  lambda, map, filter, and reduce) के साथ Python 1.0 रिलीज़ हुवा | इस वर्शन के बाद October 16, 2000 में पाइथन का नया वर्शन Python 2.0 आया जिसमे comprehensions, garbage collection systems जैसे नए फीचर्स थे | 

3 दिसम्बर 2008 को Python 3.0 रिलीज़ हुवा जिसको “Py3K” भी कहा जाता है |

ऐसा माना जाता है कि पाइथन लैंग्वेज ABC programming language से प्रभावित है  ABC programming language , SETL नामक  प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से inspire थी और ABC language को Netherland के CWI (Centrum Wiskunde & Informatica) में BASIC, PASCAL जैसे लैंग्वेज को Replace करने के लिए बनाया जा रहा था | 

जब ABC language को Netherland के CWI (Centrum Wiskunde & Informatica) में बनाया जा रहा था तब Guido Van Rossum भी इस प्रोजेक्ट पर कर कर रहे थे और इस प्रोजेक्ट के दौरान ही उन्हें पाइथन लैंग्वेज बनाने का ख्याल आया और उन्होंने पाइथन लैंग्वेज बनाने के लिए ABC language के प्रोजेक्ट से प्राप्त ज्ञान का उपयोग किया | 

मगर पाइथन लैंग्वेज का नाम “Python किसी सांप के नाम पर नहीं है इसका ये नाम BBC के एक कॉमेडी शो “Monty Python’s Flying Circus” से प्रभावित है | 

Guido Van Rossum जब पाइथन प्रोजेक्ट पर कार्य कर रहे थे तब उन्होंने इसका नाम देने का सोचा और तब उन्होंने अपने उस प्रोजेक्ट का नाम “Python” रखा क्योकि Guido Van Rossum को BBC का “Monty Python’s Flying Circus” कॉमेडी शो काफी पसंद था तो उन्होंने इसका नाम “Python” रख दिया | 


Python Version List

पाइथन लैंग्वेज को समय के साथ अपडेट किया जाता रहा है जिसके कारण पाइथन लैंग्वेज के कई सारे वर्शन हो गए है |  हर नया वर्शन नए फीचर के साथ आता है जो प्रोग्रामर को प्रोग्रामिंग करने में काफी सुविधा प्रदान करता है | 

आइये जानते है पाइथन लैंग्वेज के सभी वर्जन के बारे में | 

Python VersionReleased Date
Python 1.0January 1994
Python 1.5December 31, 1997
Python 1.6September 5, 2000
Python 2.0October 16, 2000
Python 2.1April 17, 2001
Python 2.2December 21, 2001
Python 2.3July 29, 2003
Python 2.4November 30, 2004
Python 2.5September 19, 2006
Python 2.6October 1, 2008
Python 2.7July 3, 2010
Python 3.0December 3, 2008
Python 3.1June 27, 2009
Python 3.2February 20, 2011
Python 3.3September 29, 2012
Python 3.4March 16, 2014
Python 3.5September 13, 2015
Python 3.6December 23, 2016
Python 3.7June 27, 2018
Python 3.8October 14, 2019

दोस्तों यहां तक हमने जाना कि पाइथन लैंग्वेज क्या है? (What is Python In Hindi) और इसका इतिहास क्या है? (History of Python In Hindi) चलिए अब हम ये जान लेते है कि आपको पाइथन लैंग्वेज क्यों सीखना चाहिए


पाइथन क्यों सीखें? (Why learn python In Hindi)

अगर आपको पहले से कोई लैंग्वेज नहीं आती और आप सॉफ्टवेयर फील्ड में अपना करियर बनाने चाहते है तो आपको पाइथन जरूर सीखनी चाहिए | 

पाइथन एक जनरल पर्पस, ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जो प्रोग्रामर को काफी अच्छे फीचर्स प्रदान करते है | पाइथन लैंग्वेज के ये फीचर्स इसे काफी पॉपुलर और ज्यादा उपयोग किये जाने वाले प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में से एक बनती है | 

पाइथन लैंग्वेज एक तेजी से बढ़ता प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसकी मदद से हम कई तरह के एप्लीकेशन बना सकते है | 

पाइथन हमे कई सारे फ्रेमवर्क प्रदान करता है जिसका उपयोग कर हम वेब एप्लीकेशन बना सकते है | आप जो इंस्टाग्राम उपयोग करते है उसको बनाने में Python web-framework, Django का इस्तेमाल हुवा है | 

पाइथन की मदद से हम GUI Applications बना सकते है | पाइथन हमे यूजर इंटरफ़ेस बनाने के लिए Tk GUI library प्रदान करता है | 

पाइथन का उपयोग करके हम Console-based Application भी बना सकते है | Console-based Application जैसे यदि आपने पहले सी लैंग्वेज सीखी होगी तो आपने प्रोग्राम को रन करते हुए देखा ही होगा कि जो आउटपुट आता है वो एक ब्लैक विंडो में आता है जो एक Console-based Application है | 

पाइथन लैंग्वेज हमे command-line apps या Console-based Application बनाने के लिए कई सारे फ्री लाइब्रेरी प्रदान करता है | 

पाइथन लैंग्वेज की मदद से हम सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट का कार्य आसानी से कर सकते है | 

पाइथन का उपयोग Enterprise Applications बनाने में होता है जिसका इस्तेमाल बड़े बड़े ऑर्गनिज़तिओन्स द्वारा किया जाता है | 

इस तरह से और भी एप्लीकेशन है जिसे हम पाइथन लैंग्वेज की मदद से बना सकते है | तो यकीं मानिये पाइथन लैंग्वेज सीख कर आगे आपको काफी ज्यादा बेनिफिट्स होने वाले है | 


पायथन का उपयोग कहाँ किया जाता है? (Where is Python used)

पाइथन एक पॉपुलर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसका उपयोग आज लगभग हर क्षेत्र में हो रहा है | नीचे कुछ क्षेत्रों के बारे में बताने वाला हूँ जहाँ पाइथन लैंग्वेज का उपयोग काफी ज्यादा होता है | 

  • डेटा साइंस में 
  • डेटा माइनिंग में 
  • डेस्कटॉप एप्लीकेशन बनाने में 
  • कंसोल बेस्ड एप्लीकेशन बनाने में 
  • मोबाइल एप्लीकेशन बनाने में 
  • सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट में 
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में 
  • वेब डेवलपमेंट में 
  • एंटरप्राइज एप्लीकेशन में 
  • 3 डी सीएडी एप्लीकेशन बनाने में 
  • मशीन लर्निंग में 
  • कंप्यूटर विजन या इमेज प्रोसेसिंग एप्लीकेशन में  

तो दोस्तों ये कुछ क्षेत्र थे जाना हम पाइथन लैंग्वेज का उपयोग करते है |


पायथन लैंग्वेज की विशेषताएं (Features of Python Language in Hindi)

हम प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को उनके फीचर का आधार पर आसानी से तुलना कर सकते है क्योकि हर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की अपनी एक अलग विशेषता होती है जो उसे बाकी लैंग्वेज से अलग बनती है | 

आइये जानते है पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के कुछ विशेषताओं के बारे | 

  1. पाइथन एक सिंपल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसे सीखना और इस्तेमाल करना काफी आसानी है | 
  2. पाइथन में कोड लिखना और समझना काफी आसान है | 
  3. पाइथन एक इंटरप्रेटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसके कोड को इंटरप्रेटर द्वारा रन किया जाता है | 
  4. पाइथन के source code को मेन्टेन करना आसान है | 
  5. पाइथन में कई सारे लाइब्रेरी है जिसकी मदद से हम विभिन्न प्रकार के कार्य कर सकते है | 
  6. पाइथन एक पोर्टेबल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसमे लिखे गए कोड को बिना किस दिक्कत के अलग अलग प्लेटफार्म में चलाया जा सकता है | 
  7. पाइथन एक open source प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जो सभी के लिए फ्री में उपलब्ध है | इसके सोर्स कोड को आप www.python.org से प्राप्त कर सकते है | 
  8. पाइथन एक ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड, जनरल पर्पस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है | 
  9. पाइथन में वेरिएबल को मेमोरी  Dynamic Allocate होती है | 
  10. पाइथन में ऑटोमेटिक मेमोरी मैनेजमेंट होता है जो इसे बाकी लैंग्वेज से ज्यादा पावरफुल और पॉपुलर बनती है | 

Python Basic Syntax

पाइथन लैंग्वेज में हमें कर्ली ब्रैकेट { } और सेमीकोलन “ ; ” का उपयोग करने के जरूर नहीं होती मगर इसमें हम indentation का उपयोग कोड को डिफाइन करने के लिए करते है | 

indentation का मतलब प्रोग्राम में हम वाइट स्पेसेस का उपयोग कोड को डिफाइन करने के लिए करते है | 

Example -:

def func():  
       statement 1  
       statement 2  
       statement 3
       …………………  
       …………………  
         statement N  

ऊपर दिए गए उदाहरण में जितने भी स्टेटमेंट है वो फंक्शन के राइट साइड है |  आमतौर पर हम indentation को डिफाइन करने के लिए चार white spaces का उपयोग करते है जो बताता है कि कौन सा स्टेटमेंट किस ब्लॉक और फंक्शन का है | 


Python First Program

पाइथन लैंग्वेज बाकि सभी लैंग्वेज से थोड़ा भिन्न है इसमें हम कुछ ही लाइन में अपना कोड लिख सकते है | 

जिस कोड को दूसरे लैंग्वेज जैसे Java, C/C++ आदि में लिखने में हमे काफी ज्यादा लाइन में लिखना पड़ता था उसी को हम पाइथन की मदद से कुछ ही लाइन में लिख सकते है |

आइये इसको हम एक example से समझते है | 

Example -: Hello World Program Using C++

#include <iostream>
using namespace std;

int main() 
{
   cout << "Hello World"; 
   return 0;
}

Example -: Hello World Program Using Python

print("Hello World")  

ऊपर हमने Hello World का प्रोग्राम C++ Language और Python  Language कि मदद से बनाया है | C++ Language में बने प्रोग्राम को देखे, उसमे हमे Hello World प्रिंट कराने के लिए कई सारे लाइन में कोड लिखना पड़ा | मगर पाइथन में उसी को हमने एक लाइन में लिख करके प्रिंट करा दिया | इससे साफ जाहिर होता है कि पाइथन एक सिंपल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसमे कोड लिखना और समझना बाकि लैंग्वेज की तुलना में काफी आसान है | 


पाइथन कैसे सीखे? (How to learn Python In Hindi)

दोस्तों अगर आपने यहाँ तक ध्यान से पढ़ा है  तो आपको पता चल गया होगा कि आपको पाइथन लैंग्वेज की क्या फीचर्स है जो इसे बाकि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से अलग बनती है | 

आइये अब हम जानते है की आप पाइथन लैंग्वेज कैसे सिख सकते है | 

दोस्तों पाइथन लैंग्वेज सीखने के लिए सबसे पहले आपको पाइथन लैंग्वेज का कोर्स या कोई टुटोरिअल फॉलो करना होगा जिससे की आप पाइथन बेसिक सिख सके | 

निचे मैं कुछ वेबसाइट बता रहा हूँ जहाँ से आप पाइथन लैंग्वेज सिख सकते है -:

ये कुछ वेबसाइट है जहाँ से आप पाइथन सिख सकते है | मगर ये साइट आपको इंग्लिश  में पाइथन सिखायेंगे ऐसे में कुछ लोगों के लिए जिनको इंग्लिश ज्यादा अच्छे से नहीं आती उनको पाइथन सीखने में दिक्कत हो सकती है | 

यदि आपको हिंदी में पाइथन सीखना है तो मुझे नीचे कमेंट में बताइयेगा | यदि ज्यादा लोगो का कमेंट आता है तो मैं आपको अपने इस साइट में पाइथन का कम्पलीट टुटोरिअल प्रदान करूँगा | 


इन्हे भी पढ़े -:

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आशा करता हु कि आपको Python क्या है? (What is Python Language in Hindi) इसका इतिहास क्या है? (History of Python in Hindi) इसके फीचर्स क्या है (Features of Python in Hindi) से संबंधित सभी जानकारी मिल गई होगी और आपको और कही इसके बारे में सर्च करना नहीं पड़ेगा |

मैंने कोशिश की है कि आपको Python Programming Language से संबंधित सभी जानकारी इस एक पोस्ट दू |

दोस्तों आशा करता हु कि आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आयी होगी अगर आपको ये पोस्ट पसंद आयी है तो आप इस पोस्ट को अपने अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी Python से संबंधित जानकारी प्राप्त हो सके |

अगर आपको अभी भी Python Kya Hai? (What is Python in Hindi) और पाइथन कैसे सीखे? (How to learn Python In Hindi) से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप निचे कमेंट में जरूर बताये मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

ऐसे ही टेक्नोलॉजी ,Programming Language , Coding , C LanguageC++, Python Course, Java Tutorial से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट  masterprogramming.in को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की  सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी |

Jeetu Sahu is A Web Developer | Computer Engineer | Passionate about Coding, Competitive Programming and Blogging

Leave a Comment