SMTP क्या है? – What is SMTP In Hindi (सम्पूर्ण जानकारी)

SMTP Kya Hai -: SMTP का मतलब Simple Mail Transfer Protocol है। जो सॉफ्टवेयर को इंटरनेट पर इलेक्ट्रॉनिक मेल संचारित करने की अनुमति प्रदान करता है। 

यह एक प्रोग्राम है जिसका उपयोग e-mail addresses के आधार पर अन्य कंप्यूटर उपयोगकर्ताओं को संदेश भेजने के लिए किया जाता है।

यह समान या भिन्न कंप्यूटरों पर उपयोगकर्ताओं के बीच मेल एक्सचेंज की अनुमति प्रदान करता है। 

यह एक या अधिक प्राप्तकर्ताओं को एक साथ संदेश भेज सकता है। संदेश में टेक्स्ट, आवाज, वीडियो या ग्राफिक्स आदि शामिल हो सकते हैं।

यह इंटरनेट के बाहर के नेटवर्क पर भी संदेश भेज सकता है। SMTP का मुख्य उद्देश्य सर्वरों के बीच communication rules स्थापित करना है। 

तो दोस्तों यह थी SMTP की एक बेसिक सी जानकारी, यदि आप SMTP के बारे में Detail में जानना चाहते है तो आप इस आर्टिकल को आगे पढ़ते रहे क्योकि आज के इस आर्टिकल में हम विस्तार से जानेंगे कि SMTP Kya Hai? SMTP कैसे कार्य करता है?  SMTP  कितने प्रकार के होते है? 

तो आइये अब बिना समय गवाए सबसे पहले जानते है कि SMTP क्या है? (What is SMTP In Hindi)

SMTP क्या है? (What is SMTP In Hindi)

SMTP क्या है? (What is SMTP In Hindi)

SMTP का फुल फॉर्म “Simple Mail Transfer Protocol” है। इस प्रोटोकॉल का मुख्य उद्देश्य ईमेल भेजना और प्राप्त करना है। यहां प्रोटोकॉल का मतलब है कि जब एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में ईमेल ट्रांसफर होता है, तो उस समय ट्रांसफर की प्रोसेस क्या और कैसे होगी, ये सभी निर्देश प्रोटोकॉल देता है।

जिस प्रकार LAN नेटवर्क में कंप्यूटर एक दूसरे से संवाद करने के लिए एक प्रोटोकॉल का पालन है और इंटरनेट मे फाइल ट्रांसफर मे FTP प्रोटोकॉल उपयोग होता है ठीक वैसे ही जब आप किसी को Mail भेजते है तो उसमें SMTP प्रोटोकॉल का इस्तेमाल होता है। 

जब कोई Mail भेजता है तो वह Mail सीधा क्लाइंट के कंप्यूटर से Mail सर्वर पर जाता है। इस Mail को सर्वर तक ट्रांसफर करने मे SMTP की भूमिका महत्वपूर्ण रहती है। 

ये TCP/IP पर आधारित एक प्रकार का एप्लीकेशन लेयर प्रोटोकॉल है। यह Port 25 का इस्तेमाल करता है और इसे Push Protocol भी कहते है। 

SMTP प्रोटोकॉल के साथ दो और भी प्रोटोकॉल कार्य करते है: POP (Post Office Protocol) और IMAP (Internet Message Access Protocol). ये दोनो प्रोटोकॉल मेल सर्वर से ईमेल को डाउनलोड करके client के कंप्यूटर तक पहुंचाते है। 

SMTP कैसे कार्य करता है? – How Does SMTP Work In Hindi

यह end-to-end Mail delivery पर आधारित है। SMTP में दो working point होते है जिससे यह कार्य करता है। इसमें पहला पॉइंट SMTP client होता है जो अपने ईमेल एड्रेस से Mail भेजता है, जबकि दूसरा पॉइंट SMTP mail server है, जो कि ईमेल प्राप्त करता है। 

SMTP connection जिस पर बना हुआ है, उसे TCP connection कहते है।जब SMTP सर्वर कनेक्शन स्थापित होता है, तो उसके बाद ईमेल क्लाइंट उससे कनेक्ट हो जाता है और उससे communicate करना शुरू कर देता है। जब user ईमेल मैसेज को “send” करता है, तो ईमेल client server से एक TCP connection open करता है ताकि ईमेल को भेजा जा सके।

Client कमांड टाइप करके सर्वर को बताता है कि क्या कार्य करना है। इसके बाद MTA (mail transfer agent) चेक करता है कि दोनों ईमेल एड्रेस same डोमेन के है या नहीं है, जैसे – Gmail.com डोमेन का उदाहरण है। 

अगर डोमेन same निकलता है तो ईमेल तुरंत send हो जाएगा लेकिन अगर ये अलग हुआ है, तो सर्वर DNS (Domain Name Server) के इस्तेमाल से प्राप्तकर्ता (recipients) का domain दूसरे सर्वर मे ढूंढता है और सही सर्वर मिलने पर ईमेल भेज दिया जाता है।

SMTP प्रोटोकॉल को अच्छे से समझने के लिए एक उदाहरण – 

मान लीजिए दो व्यक्ति है: श्याम और रोहन 

श्याम के पास gmail account है- shyam@gmail.com और रोहन के पास Yahoo account है – rohan@yahoo.com 

अब श्याम रोहन को ईमेल भेजना चाहता है। इसमें ईमेल ट्रांसफर की कार्यप्रणाली क्या होगी। इसे step by step के जरिए समझते है – 

1. सबसे पहले श्याम अपने कंप्यूटर में ईमेल draft करेगा। 

2. फिर वह रोहन का ईमेल एड्रेस टाइप करके ईमेल “send” पर क्लिक करता है। 

3. श्याम का ईमेल क्लाइंट उसके डोमेन के SMTP server से कनेक्ट होता है। यह सर्वर का नाम smtp.example.com हो सकता है। यहाँ श्याम का मेल सर्वर एक SMTP client की भूमिका निभाएगा। 

4. उसके बाद श्याम का मेल सर्वर रोहन को मैसेज डिलीवर करने के लिए yahoo.com मेल सर्वर से communicate करता है। 

5. जब दोनों सर्वर के बीच SMTP का मिलाव होता है, तो SMTP client श्याम के मैसेज को रोहन के मेल सर्वर पर भेजेगा। यहाँ रोहन का मेल सर्वर एक SMTP server की भूमिका निभाता है। 

6. रोहन का SMTP server incoming यानी आने वाले सभी मैसेज को स्कैन करता है और डोमेन और username की पहचान करता है। 

7. रोहन के मेल सर्वर से ईमेल प्राप्त होते ही यह ईमेल Mailbox में जाकर स्टोर हो जाता है। इन ईमेल को बाद में कभी भी प्राप्त किया जा सकता है। Outlook, Gmail या Yahoo जैसे ईमेल एप्लीकेशन द्वारा ईमेल open करके पढ़ सकते है। 

SMTP के प्रकार – Types of SMTP In Hindi

1) End-to-end SMTP

SMTP model में, client और SMTP सर्वर के बीच कम्युनिकेशन session शुरू होता है, जबकि receiver के side मे SMTP, client के request का response देता है।

End-to-end SMTP प्रोटोकॉल विभिन्न organization के सर्वर को ईमेल भेजने में मदद करता है। यह मॉडल विभिन्न organization के बीच संचार के माध्यम के रूप में कार्य करता है।

2) Store-and-forward SMTP

Store-and-forward SMTP model, end-to-end SMTP model से बिल्कुल अलग होता है। Store-and-forward का इस्तेमाल सिर्फ एक ही संगठन के अंदर होता है। 

Destination के host से सीधा संपर्क होने के बाद, SMTP सर्वर अपने पास ईमेल रखता है जिसके बाद प्राप्तकर्ता का SMTP उस ईमेल की copy प्राप्त कर लेता है।

अपना SMTP सर्वर कैसे जाने? 

अगर आप अपना SMTP सर्वर के बारे में जानना चाहते है तो इसके कुछ निम्न स्टेप्स बताए गए है, जिसे फॉलो करके आप जान सकते है।

Command prompt में कमांड टाइप करके अपना SMTP सर्वर का पता लगा सकते है –

  1. सबसे पहले keyboard में Window key को Press करना है।
  2. फिर search box में “cmd” टाइप करे।
  3. Command Prompt एप्लीकेशन open होने के बाद  दो कमांड है जिसकी मदद से SMTP सर्वर देख सकते है – 

पहला कमांड : ping smtp.mysite.com

दूसरा कमांड : ping mail.mysite.com 

इन दोनों में से किसी एक कमांड को टाइप करने पर SMTP सर्वर का पता चल जाता है। Command टाइप करने के बाद आपका SMTP server का नाम “Pinging” word के ठीक बाद दिख जाएगा। 

SMTP के कुछ जरुरी Commands 

1) HELO : इस कमांड से SMTP session प्रक्रिया को शुरू करता है। यह कमांड सर्वर को यह बताता है कि Client mail transaction के लिए तैयार है। क्लाइंट, कमांड टाइप करने के बाद अपना डोमेन (जैसे- gmail.com) mention करता है। यह कमांड एक मेल सर्वर से दूसरे मेल सर्वर के बीच कम्युनिकेशन establish करता है।

2) MAIL FROM :- इस कमांड से आप जिसको ईमेल भेज रहे है उसका  email address दिखता है।

3) RCPT TO :- इस कमांड के इस्तेमाल से आप recipient यानी ईमेल प्राप्त करने वाले का पता लगता है। अगर एक से ज्यादा recipient रहता है तो इस कमांड को दोबारा टाइप किया जाता है।

4) Size : इस कमांड से सर्वर को ईमेल के साथ attached फाइल के साइज की information दी जाती है।

5) Data: यह कमांड टाइप करते ही ईमेल ट्रांसफर की शुरुवात हो जाती है। इसको शुरू करने के लिए सर्वर द्वारा reply code 354 दिया जाता है जिससे ट्रांसफर की प्रक्रिया आरंभ होता है।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस आर्टिल्स में हमने SMTP के बारे में बात की और जाना कि SMTP क्या है? (What is SMTP In Hindi) SMTP कैसे कार्य करता है?  SMTP  कितने प्रकार के होते है? (Types of SMTP In Hindi)

तो दोस्तों आशा करता हूँ कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और यदि ये आर्टिकल आपको पसंद आया है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी SMTP Kya Hai के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके .

अगर आपको अभी भी SMTP In Hindi से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप कमेंट्स के जरिए हमसे पुछ सकते है। मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

ऐसे ही टेक्नोलॉजी ,Computer Science से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी |

Jeetu Sahu is A Web Developer | Computer Engineer | Passionate about Coding, Competitive Programming and Blogging

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Powered By
Best Wordpress Adblock Detecting Plugin | CHP Adblock