|

SNMP क्या है? (What is SNMP In Hindi)

SNMP Kya Hai -: SNMP एक एप्लिकेशन लेयर प्रोटोकॉल है जिसका उपयोग नेटवर्क की निगरानी करने, ​​​​नेटवर्क faults का पता लगाने और कभी-कभी दूरस्थ उपकरणों को कॉन्फ़िगर करने के लिए भी किया जाता है।

SNMP एक फ्रेमवर्क है जिसका उपयोग इंटरनेट पर उपकरणों के मैनेजमेंट के लिए किया जाता है। यह इंटरनेट की निगरानी और प्रबंधन के लिए set of operations प्रदान करता है।

तो दोस्तों यह थी SNMP की एक बेसिक सी जानकारी, यदि आप SNMP के बारे में Detail में जानना चाहते है तो आप इस आर्टिकल को आगे पढ़ते रहे क्योकि आज के इस आर्टिकल में हम विस्तार से जानेंगे कि SNMP Kya Hai? SNMP कैसे कार्य करता है? औरऔर SNMP का क्या उपयोग है?

तो आइये अब बिना समय गवाए विस्तार से जानते है कि SNMP क्या है? (What is SNMP In Hindi)

SNMP क्या है? (What is SNMP In Hindi)

SNMP क्या है? (What is SNMP In Hindi)

Definition -: SNMP का पूरा नाम Simple Network Management Protocol है यह network device जैसे rooters, switch, hub, IP Phone, तथा server आदि के साथ Communication के लिए व्यापक रूप से प्रयोग में लाए जाने वाला Management Protocol है। 

इसका मुख्य काम network elements के मध्य network और performance की जानकारी का आदान प्रदान करना है। 

SNMP, यूडीपी पोर्ट 161 तथा 162 का प्रयोग करके network elements के मध्य सूचना और सामग्री का आदान प्रदान करता है। 

SNMP एक एप्लिकेशन लेयर प्रोटोकॉल है जिसका उपयोग नेटवर्क की निगरानी करने, ​​​​नेटवर्क faults का पता लगाने और कभी-कभी दूरस्थ उपकरणों को कॉन्फ़िगर करने के लिए भी किया जाता है।

SNMP एक फ्रेमवर्क है जिसका उपयोग इंटरनेट पर उपकरणों के मैनेजमेंट के लिए किया जाता है। यह इंटरनेट की निगरानी और प्रबंधन के लिए set of operations प्रदान करता है।

SNMP के कॉम्पोनेंट्स (Components of SNMP In Hindi)

SNMP को Internet Engineering Task Force (IETF) ने डिफाइन किया था, और वर्तमान समय में यदि हम SNMP के मुख्य components की बात करते है तब इसके मुख्य रूप से चार कॉम्पोनेंट्स है, जो कि निम्नलिखित है -:

  • SNMP Manager
  • SNMP Agent 
  • Managed Device
  • MIB

1. SNMP Manager

SNMP Manager क्लाइंट के रूप में कार्य करता है यह एक तरह का computer system होता है, जो कि SNMP Agent के द्वारा network traffic को मॉनिटर करने का कार्य करता है, यह इन agents से सवाल करता है, और यदि सभी सवाल के जवाब मिल जाता है तो फिर यह उत्तर query करने का कार्य करता है,और इन्हें कंट्रोल करता है। 

एक तरह से यह SNMP का मुख्य भाग है, इसके बिना कुछ भी कार्य करना संभव नहीं है।

2. SNMP Agent

 SNMP agent सर्वर के रूप में कार्य करता है। यह एक तरह का software program होता है, जो कि network elements में उपस्थित होता है, इसका काम डिवाइस से निश्चित समय में सूचना एकत्रित करना होता है, फिर उस सूचना को SNMP manager को प्रोवाइड करना होता है, इसके साथ ही यह सूचना को store करके रखता है, साथ में सूचना को retrieve करने का काम भी करता है, इसके बिना SNMP में सूचना का आदान प्रदान मुश्किल हो जायेगा।

3. Managed Device

SNMP में Managed Device होता है जो हमारे swich, rooter, hub, server, bridge तथा modam आदि को सुनिश्चित रूप से  रखने में मदद करता है, इसे हम network elements भी कहते है।

4. MIB 

इसका पूरा नाम Management Information Database होता है, इसका काम virtaul information store करना है, इसमें management information को स्टोर किया जाता है, इसके साथ ही  SNMP के सारे डाटा यहां स्टोर किया जाता है, जो की SNMP Agent से प्राप्त होता है। 

जब SNMP Manager एजेंट से कोई प्रश्न पूछता है, तो एजेंट उत्तर देने के लिए MIB का उपयोग करता है।

SNMP के वर्जन (Versions of SNMP In Hindi)

कंप्यूटर के लिए SNMP बहुत ही जरूरी है, और वर्तमान समय में SNMP के 3 version आ चुके है, जो कि SNMPv1, SNMPv2, व SNMPv3 है। यदि आप SNMP उपयोग करना चाहते हैं तब यह तीनों वर्जन बेहतरीन है लेकिन यदि बात किया जाए सबसे उपयोगी और सुरक्षा की तब आज के समय में SNMPv3 सबसे ज्यादा सुरक्षित है। SNMPv3, में authentication, एन्क्रिप्शन और access control के लिए security mechanism शामिल हैं।

SNMP का उपयोग क्या है (Uses of SNMP Protocol In Hindi) 

वर्तमान समय में यदि हम computer device का उपयोग करते है तब उसमे हम जो भी data upload कर रहे है उसे सुरक्षित रखना होता है। ऐसे में आज के समय में SNMP के माध्यम से हमे सुरक्षा की गारंटी मिल जाती है। 

SNMP का उपयोग नेटवर्क की निगरानी, ​​​​नेटवर्क faults का पता लगाने और कभी-कभी दूरस्थ उपकरणों को कॉन्फ़िगर करने के लिए भी किया जाता है।

आज के समय में SNMP का मुख्य उपयोग नेटवर्क के सभी पहलुओं के साथ-साथ नेटवर्क से संबंधित अनुप्रयोगों का management करना होता है।

यदि किसी संस्था के पास 1000 उपकरण हैं तो सभी उपकरणों की जांच करना, एक-एक करके हर दिन, ठीक से काम कर रहे हैं या नहीं चेक कारना, एक व्यस्त काम है। इन्हें आसान बनाने के लिए, Simple Network Management Protocol (SNMP) का उपयोग किया जाता है।

SNMP के उपयोग के फायदे (Advantages of SNMP In Hindi) : 

 SNMP के फायदे निम्नलिखित है -:

  • SNMP का उपयोग मुख्यता small network के साथ किया जाता है।
  • SNMP नेटवर्क device में उपस्थित सभी प्रकार की जानकारी उपलब्ध कराने का कार्य करता है।
  • SNMP का उपयोग करके आप network switch, rooter, ups, NAA तथा printer आदि से डेटा एकत्र कर सकते है।
  • SNMP का उपयोग आप monitoring software में भी कर सकते है।
  • आज के समय में SNMP हार्डवेयर पर एक अतिरिक्त एजेंट स्थापित किए बिना किसी भी डिवाइस की निगरानी करने का बेहतरीन तरीका है।

SNMP Commands

वर्तमान समय में SNMP मे अनेक तरह के कमांड्स का उपयोग किया जाता है, लेकिन कुछ महत्वपूर्ण SNMP Commands निम्न है -:

  • GET Request : इसका उपयोग एक से अधिक जानकारी SNMP Manager के द्वारा SNMP Agents से प्राप्त करने के लिए किया जाता है, तथा इसकी value अधिक होती है।
  • GET Next Request : इसका काम GET के समान ही है, परंतु हमे SNMP Agent से अधिक जानकारी प्राप्त करनी होती है तब इसका उपयोग पुन: किया जाता है।
  • SET Request: इसका उपयोग SNMP manger के द्वारा managed device की वैल्यू सेट करने के लिए किया जाता है।
  • TRAP : किसी तरह का Acknowledge message भेजने के लिए इसका उपयोग SNMP Agent के द्वारा SNMP Manager के लिए मुख्य रूप से किया जाता है।
  • GET Bulk Request : इसका उपयोग अधिक और compound data को स्टोर और retrieve करने के लिए किया जाता है।
  • Inform Request :  इसका कार्य मुख्य रूप से TRAP के समान मिलता जुलता है, लेकिन किसी तरह के संयुक्त और बड़े Acknowledge message भेजने के लिए इसका उपयोग SNMP Agent के द्वारा SNMP Manager के लिए मुख्य रूप से किया जाता है।

SNMP कैसे काम करता है? (How SNMP Work In Hindi)

एक नेटवर्क में दिन भर विभिन्न प्रकार की गतिविधियाँ (जैसे कि File Transfer, Internet Browsing, Downloading, Printing आदि) होती रहती हैं। 

ऐसे में SNMP, नेटवर्क डिवाइस की इन गतिविधियों को मॉनिटर करके नेटवर्क पर नजर बनाए रखता है,और नेटवर्क से जुड़ी इनफार्मेशन (जैसे Packets, Bytes और Errors जो की नेटवर्क router द्वारा ट्रांसमिट और receive किए जाते हैं) को कलेक्ट करके रखता है

साथ ही यह उपकरणों के बीच होने वाले connection speed को भी चेक करता है। SNMP आपके नेटवर्क के उन devices जिन्हें Protocol Data Units (PDU)कहा जाता है, को संदेश भेजकर काम करता है, इन संदेशों को SNMP get-requests कहा जाता है। 

इन requests का उपयोग करते हुए, नेटवर्क administrators वस्तुतः अपने द्वारा निर्दिष्ट किसी भी डेटा मान को ट्रैक कर सकते हैं। 

SNMP ट्रैक की सभी जानकारी administrators की प्राथमिकताओं के आधार पर प्रदर्शित या संग्रहीत करता है।

Conclusion

दोस्तों आज के इस आर्टिल्स में हमने SNMP के बारे में बात की और जाना कि SNMP क्या है? (What is SNMP in Hindi) SNMP की क्या विशेषताएं है? और इसका क्या उपयोग है?

तो दोस्तों आशा करता हूँ कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और यदि ये आर्टिकल आपको पसंद आया है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी SNMP Kya Hai के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके।

अगर आपको अभी भी SNMP In Hindi से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप कमेंट्स के जरिए हमसे पुछ सकते है। मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

ऐसे ही नया टेक्नोलॉजी, Computer Science, इंटरनेट, नेटवर्किंग से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *