| |

Workstation Computer क्या हैं? (Workstation Computer In Hindi)

हेलो फ्रेंड्स, आज के इस आर्टिकल में हम Workstation Computer के बारे में बात करने वाले है।

आज हम विस्तार से जानेंगे कि Workstation Computer Kya Hai? वर्कस्टेशन कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है? और वर्कस्टेशन कंप्यूटर के क्या फायदे एवं क्या नुकसान है?

तो आइये अब बिना समय गवाए सबसे पहले जानते है कि वर्कस्टेशन कंप्यूटर क्या है? (What is Workstation Computer In Hindi)

वर्कस्टेशन कंप्यूटर क्या हैं? (Workstation Computer In Hindi)
Contents
  1. वर्कस्टेशन कंप्यूटर क्या हैं? (Workstation Computer In Hindi)
  2. वर्कस्टेशन कंप्यूटर के उदाहरण (Examples of Workstation Computer)
  3. वर्कस्टेशन कंप्यूटर के फायदे एवं नुकसान (Advantages and Disadvantages of Workstation Computer In Hindi)
  4. वर्कस्टेशन कंप्यूटर के फायदे (Advantages of Workstation Computer In Hindi)
  5. वर्कस्टेशन कंप्यूटर के नुकसान (Disadvantages of Workstation Computer In Hindi)
  6. वर्कस्टेशन कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Workstation in Hindi)
  7. वर्कस्टेशन vs डेस्कटॉप (Workstation vs Desktop)
  8. निष्कर्ष

वर्कस्टेशन कंप्यूटर क्या हैं? (Workstation Computer In Hindi)

Definition of Workstation Computer-: वर्कस्टेशन कंप्यूटर एक विशेष प्रकार का कंप्यूटर होता है जिसमें नॉर्मल कंप्यूटर की तुलना में अधिक प्रोसेसिंग पावर होती है। आप वर्कस्टेशन में एक नॉर्मल कंप्यूटर से ज्यादा काम कर सकते हैं। 

एक नॉर्मल कंप्यूटर, इंटरनेट ब्राउज़िंग, वर्ड प्रोसेसिंग, और गाना सुनने आदि जैसे नॉर्मल काम करता है लेकिन एक वर्कस्टेशन वीडियो एडिटिंग, हाई ग्राफिक्स गेम खेलना, 3D Animation और कॉम्प्लेक्स सिमुलेशन जैसे हाई लेवल के काम कर सकता है।

एक नोड (Normal Computer) और वर्कस्टेशन के बीच अंतर होता है। एक नोड इंटरनेट से जुड़ा कोई भी कंप्यूटर, टैबलेट, लैपटॉप हो सकता है लेकिन वर्कस्टेशन हाई processing गति वाला एक विशेष कंप्यूटर है जो LAN (Local Area Network) से जुड़ा होता है या इंटरनेट से जुड़ा होता है।

एक वर्कस्टेशन कंप्यूटर में अच्छे quality का हाई लेवल रैम और मल्टीप्रोसेसर होता है। यह घर या मनोरंजक के रूप में उपयोग के बजाय व्यावसायिक कार्यो के लिए उपयोग किये जाते है।

लैपटॉप को वर्कस्टेशन नहीं माना जा सकता क्योंकि यह CAD (Computer Aided Design), वीडियो रेंडरिंग और कॉम्प्लेक्स डेटा विश्लेषण नहीं कर सकता। 

वर्कस्टेशन कंप्यूटर, एक single-user कंप्यूटर है जिसकी प्रोसेसिंग पावर, माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में अधिक होती है, इनमे शक्तिशाली माइक्रोप्रोसेसर चिप और उच्च गुणवत्ता वाला Monitor होता है जो इसकी प्रोसेसिंग पावर को कई होना बढ़ा देते है ।

वर्कस्टेशन कंप्यूटर, स्टोरेज क्षमता और स्पीड के के आधार पर, Micro Computer और Mini Computer के बीच आते है। आमतौर पर इनका उपयोग विशेष एप्लीकेशन जैसे डेस्कटॉप प्रकाशन, सॉफ्टवेयर डवलपमेंट और इंजीनियरिंग एप्लीकेशन (CAD/CAM) आदि के लिए किया जाता हैं  | 

अधिकांश वर्कस्टेशन में डिस्क स्टोरेज डिवाइस भी होता है जैसे कि डिस्क ड्राइव, लेकिन एक विशेष प्रकार का वर्कस्टेशन बिना डिस्क ड्राइव के आता है जिसे डिस्कलेस वर्क स्टेशन कहा जाता है 

वर्कस्टेशन कम्प्यूटर्स में ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में unix ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग किया जाता है।  Sun Microsystems, Hewlett-Packard, DEC, और IBM कुछ लोकप्रिय वर्कस्टेशन कंप्यूटर बनाने वाले निर्माता है। 

वर्कस्टेशन कंप्यूटर के उदाहरण (Examples of Workstation Computer)

वर्कस्टेशन कंप्यूटर के उदाहरण निम्नलिखित हैं: –

  • Sun Microsystems Sparkstation
  • Silicon Graphics IRIX Machines
  • Apple Power Mac G5
  • HP Z Series
  • apple macbook pro
  • Dell Precision
  • apple mac pro

वर्कस्टेशन कंप्यूटर के फायदे एवं नुकसान (Advantages and Disadvantages of Workstation Computer In Hindi)

जिस तरह हर सिक्के के दो पहलू होते हैं ठीक उसी तरह वर्कस्टेशन उपयोग करने के कुछ फायदे होने के साथ साथ कुछ नुकसान भी है,  तो आइए जानते हैं कि वर्कस्टेशन कंप्यूटर के फायदे क्या है एवं क्या नुकसान है। 

वर्कस्टेशन कंप्यूटर के फायदे (Advantages of Workstation Computer In Hindi)

वर्कस्टेशन के कुछ फायदे हैं जो की निम्नलिखित है -:

1) हाई परफोर्मेंस (High Performance)

इस प्रकार के कंप्यूटर नॉर्मल कंप्यूटर की तुलना में अधिक काम कर सकते हैं। यह कॉम्प्लेक्स ग्राफिक्स, financial analysis और डिजिटल कॉन्टनेट बनाने के लिए सबसे बढ़िया होता है।

2) एक यूजर ही यूज कर सकता हैं (Only one user can use)

एक समय में एक ही यूजर इस प्रकार के कंप्यूटर का उपयोग कर सकता है और इसलिए इसकी सिस्टम की स्पीड में भी अच्छी सुधार देखने को मिलती हैं और कोई अन्य यूजर इस कंप्यूटर के परफॉर्मेंस में हस्तक्षेप नहीं कर सकता है।

3) स्मार्ट निवेश (Smart investment)

ऐसे कंप्यूटरों में निवेश करना अच्छा है क्योंकि यह हमारी प्रोडक्टिविटी को बढ़ाता है और नॉर्मल यूजर की तुलना में अधिक काम कर सकता है। उदाहरण के लिए यदि आप किसी एनिमेशन को एडिट करके फिर उसे रेंडर करना चाहते हैं तो वह इस कंप्यूटर में तेजी से किया जा सकता है।

4) मनोरंजन और मीडिया क्षेत्र में उपयोग किया जाता है (Used in Entertainment and Media field)

ये कंप्यूटर मनोरंजन के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ परफॉर्मेंस कर सकते हैं जहां बहुत अधिक ऑडियो और वीडियो प्रोसेसिंग की आवश्यकता होती है। 

ऐसे कंप्यूटर का उपयोग फिल्म इंडस्ट्री में किया जाता है जहां हाई quality के वीडियो को एडिट करना पड़ता है। साथ ही, ऐसे कंप्यूटर मीडिया क्षेत्र में भी बहुत अच्छा काम करते हैं जहां लाइव प्रसारण किया जाता है।

5) विश्वसनीयता (Reliability)

वर्कस्टेशन में आप किसी भी समस्या का आसानी से निदान कर सकते हैं। यदि आपको नीली स्क्रीन मिलती है तो आईटी कर्मचारी आपके सिस्टम की मरम्मत कर सकते हैं। आईटी कर्मचारी कीबोर्ड, माउस और वीडियो संलग्न कर सकते हैं और वर्कस्टेशन में समस्या की पहचान कर सकते हैं।

6) बड़ी मेमोरी (Huge Memory)

वर्कस्टेशन में डेस्कटॉप कंप्यूटर की तुलना में बड़ी मेमोरी होती है। लैपटॉप, टैबलेट, स्मार्टफोन या अन्य उपकरणों की तुलना में इसकी मेमोरी लगभग दोगुनी है। बड़ी मेमोरी का उपयोग करके यह कम समय में अधिक काम कर सकता है। किसी भी काम को करते समय Memory में लगभग कोई error नहीं होती।

7) एकाधिक प्रोसेसर सपोर्ट (Multiple Processors Support) 

एक वर्कस्टेशन में कई प्रोसेसर लगे होते हैं। मल्टीप्रोसेसर का उपयोग करके आप बिना किसी समस्या के एक बार में कई एप्लिकेशन चला सकते हैं, एकाधिक एप्लिकेशन खोलने से आपका सिस्टम धीमा नहीं होगा।

एक वर्कस्टेशन का उपयोग इंजीनियरों, वैज्ञानिकों, विश्लेषकों और डिजाइनरों जैसे प्रोफेशनलों द्वारा किया जाता है।

8) बड़ी हार्ड ड्राइव और एसएसडी (Large Hard Drives and SSDs)

एक वर्कस्टेशन में हार्ड ड्राइव होते हैं जो टेराबाइट डेटा को स्टोर कर सकते हैं ताकि किसी भी आकार के फाइल को हार्ड ड्राइव में स्टोर किया जा सके। इसके अतिरिक्त, SSD (Solid State Drive) भी सिस्टम के परफॉर्मेंस को गति देने के लिए वर्कस्टेशन में मौजूद होता हैं।

9) प्रयोग करने में आसान (Easy to use)

वर्कस्टेशन में लैपटॉप की तुलना में बड़ा कीबोर्ड होता हैं। यदि आप एक कमरे में रहते हैं और आपको अपने सिस्टम को बाहर नही ले के जाना हैं तो यह कंप्यूटर आपके लिए काफी लाभदायक है।

वर्कस्टेशन कंप्यूटर के नुकसान (Disadvantages of Workstation Computer In Hindi)

वर्कस्टेशन के कुछ नुकसान भी हैं जो की निम्नलिखित है -:

1) एक जगह से दूसरे जगह ले जाना (Move From Place To Place)

वर्कस्टेशन को एक जगह से दूसरी जगह ले जाना मुश्किल होता है। वहीं अगर आप लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं तो इसे आसानी से एक जगह से दूसरी जगह ले जा सकते है। वर्कस्टेशन को एक जगह से दुसरे जगह ले जाने के लिए, आपको हर बार प्लग आउट करना होगा।

2) यह महंगा हैं (It is Expensive)

वर्कस्टेशन कम क्षमता वाले कंप्यूटरों की तुलना में बहुत महंगा है। हाई रैम, हार्ड ड्राइव और मल्टीप्रोसेसर से पावर्ड होने के कारण इसकी लागत बहुत ज्यादा होती है।

3) हाई पावर यूसेज (High Power Usage)

टैबलेट, स्मार्टफोन, लैपटॉप और डेस्कटॉप कंप्यूटर जैसे अन्य उपकरणों की तुलना में वर्कस्टेशन अधिक बिजली का उपयोग करता है।

वर्कस्टेशन कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Workstation in Hindi)

वर्कस्टेशन कंप्यूटर चार प्रकार के होते हैं जो की निम्नलिखित है -:

1) सर्वर -: मल्टी-कोर सीपीयू-आधारित सिस्टम कई मामलों में अनिश्चित काल तक चलने और जटिल कंप्यूटिंग कार्यों को संभालने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।

2) मल्टीमीडिया: CPU और GPU आमतौर पर मल्टीमीडिया या प्रोडक्शन सिस्टम में एक साथ काम करते हैं ताकि प्रोफेशनल ऑडियो/ वीडियो को एनकोड, एडिट और प्रोड्यूस किया जा सके। ऐसा सिर्फ इस तरह के जो वर्कस्टेशन कम्प्यूटर में किया जा सकता हैं।

3) मॉडलिंग: AutoCAD जैसे मॉडलिंग सॉफ्टवेयर को एक सटीक प्रोफेशनल मॉडल बनाने के लिए एक प्रोफेशनल ग्राफिक्स कार्ड की आवश्यकता होती है जो कि इस कंप्यूटर में मौजूद होता है।

4) ग्राफिकल प्रोडक्शन -: 2D/3D इमेज और एनिमेशन इस तरह के वर्कस्टेशन कंप्यूटर द्वारा तैयार किए जाते हैं।

वर्कस्टेशन vs डेस्कटॉप (Workstation vs Desktop)

आइये अब हम  ये जान लेते है की एक वर्कस्टेशन कंप्यूटर और डेस्कटॉप कंप्यूटर में क्या अंतर है -:

  • लागत (Cost) -: अधिकांश कमर्शियल कंप्यूटर्स की कीमत ₹30,000 से ₹75,000 तक होती है, जबकि एक वर्कस्टेशन कंप्यूटर की कीमत ₹1.6 लाख से ₹3 लाख और इससे भी अधिक होती है।
  • परफॉर्मेंस (Performance) -: एक डेस्कटॉप ईमेल, वेब सर्फिंग और वर्ड प्रोसेसिंग जैसे अधिकांश काम कर सकता है। हालाँकि, वर्कस्टेशन कंप्यूटर इन सब से अधिक काम कर सकता है।  यह सीएडी, एनीमेशन, डेटा विश्लेषण और फोटोरिअलिस्टिक रेंडरिंग जैसे काम आसानी से कर सकता है। इसके अलावा, यह वीडियो/ ऑडियो निर्माण और editing को भी संभाल सकता है।
  • ड्यूरेबल (Durable) -: कंप्यूटर वर्कस्टेशन के अंदरूनी कंपोनेंट्स पीसी की तुलना में उच्च मानक के होते हैं। कंप्यूटर वर्कस्टेशन का प्रत्येक भाग इस समझ के साथ बनाया जाता है कि इसे पूरे दिन भी इस्तेमाल किया जाए तो इसे कुछ नही हो।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस आर्टिल्स में हमने Workstation Computer के बारे में बात की और जाना कि वर्कस्टेशन कंप्यूटर क्या है? (What is Workstation Computer In Hindi) वर्कस्टेशन कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है? और वर्कस्टेशन कंप्यूटर के क्या फायदे एवं क्या नुकसान है? (Advantages and Disadvantages of Workstation Computer In Hindi)

अगर आप कंप्यूटर फंडामेंटल Complete Tutorial चाहते है तो मेरे इस आर्टिकल Computer Fundamental Tutorial In Hindi को देखे | यहाँ आपको कंप्यूटर फंडामेंटल्स के सभी टॉपिक्स step by step मिल जाएगी |

तो दोस्तों आशा करता हूँ कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और यदि ये आर्टिकल आपको पसंद आया है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी Workstation Computer Kya Hai के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके .

अगर आपको अभी भी Workstation Computer In Hindi से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप कमेंट्स के जरिए हमसे पुछ सकते है। मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

ऐसे ही नया टेक्नोलॉजी ,Computer Science, इंटरनेट, नेटवर्किंग से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published.