सुपर कंप्यूटर क्या है? (What Is Supercomputer In Hindi)

मानव इतिहास में कईं बड़ी खोज हुई है, उनमें से कुछ खोज तो ऐसी थी जिन्होंने हमारे जीवन को पूरी तरह से बदल कर रख दिया, ऐसी ही एक खोज थी Supercomputers की खोज |

“Supercomputers”आप ने इस शब्द को पहले भी कहीं सुना होगा लेकिन क्या आप जानते है कि Supercomputers Kya Hai? और इसका क्या उपयोग है?

यदि आप यह जानना चाहते है तो आप बिलकुल सही जगह पर है क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको विस्तार से बताएँगे कि सुपर कंप्यूटर क्या है? (What is Supercomputer in Hindi)  सुपर कंप्यूटर की परिभाषा क्या है? (Definition of Supercomputer in Hindi) सुपर कंप्यूटर का इतिहास क्या है? (History of Supercomputer In Hindi) और सुपर कंप्यूटर का उपयोग क्यों किया जाता है? 

तो आइये बिना समय गवाए सबसे पहले जानते है कि Supercomputer Kya Hai?

सुपर कंप्यूटर क्या है? (What Is Supercomputer In Hindi)

Table of Contents

सुपर कंप्यूटर क्या है? (What is Supercomputer In Hindi)

Supercomputer यह नाम दो शब्दों के मेल से बना है Super + Computer, तो इसका नाम ही हमें इसके बारे में बता देता है कि Supercomputers भी एक प्रकार का कंप्यूटर है, जिसकी स्पीड और memory साधारण कंप्यूटर्स की तुलना में काफी ज्यादा होती है |

Supercomputers साधारण कंप्यूटर्स की तुलना में लगभग 1000 गुना अधिक तेज होते है क्योंकि एक साधारण कंप्यूटर में केवल एक CPU होता है, लेकिन एक सुपरकंप्यूटर में एक से अधिक CPU होते है,

एक से अधिक CPU होने की वजह से ही सुपरकंप्यूटर की प्रोसेसिंग स्पीड साधारण कंप्यूटर से अधिक तेज होती है |

सुपर कंप्यूटर में चूँकि हजारों प्रोसेसर होते हैं इसलिए यह प्रति सेकंड अरबों और खरबों गणना या संगणना करने में सक्षम होते हैं।

Supercomputers की स्पीड को MIPS (Million Instructions Per Second) की बजाय FLOPS (Floating-Point Operations per Second) में मापा जाता है | 

सुपरकम्प्युटर साइज में थोड़े बड़े होते है, इनका आकार कुछ फीट से लेकर सैकड़ों फीट तक हो सकता है | 

सुपरकम्प्युटर की कीमत भी काफी ज्यादा होती है , इसकी कीमत 2 लाख डॉलर से लेकर 100 मिलियन डॉलर से अधिक तक कुछ भी हो सकता है | 

सुपर कंप्यूटर के बारे में रोचक तथ्य (Interesting Fact About Supercomputers)

जैसा की हमनें आपको बताया कि supercomputers वह कंप्यूटर्स है जिनकी स्पीड बहुत ज्यादा होती है तो ऐसा कहा जा सकता है कि आज के समय के साधारण कंप्यूटर्स ही पुराने समय के सुपरकंप्यूटर है क्योंकि आज के कंप्यूटर्स में जिस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है, पुराने समय में उस टेक्नोलॉजी की कल्पना करना भी मुश्किल था.

आप इस बात का अंदाजा इस बात से लगा सकते है कि NASA ने केवल 4KB Ram की मदद से चांद पर लैंड किया था और आज के समय के साधारण कंप्यूटर में भी 4GB Ram होती है, तो आज के समय के साधारण कंप्यूटर्स को हम पुराने समय के सुपरकंप्यूटर कह सकते है |

सुपर कंप्यूटर की परिभाषा (Definition of Supercomputer In Hindi)

Definition -: सुपर कंप्यूटर  भी एक प्रकार का कंप्यूटर है जिसमें हजारों प्रोसेसर होते हैं जो प्रति सेकंड अरबों और खरबों गणना या संगणना करने में सक्षम होते हैं।

सुपर कंप्यूटर का इतिहास (History of Supercomputer In Hindi)

Supercomputer किसी एक इंसान या फिर किसी एक संस्था ने नहीं बनाया था, बहुत से लोगों ने समय समय पर ऐसी मशीन बनाने की कोशिश की, जो की बहुत तेज गति से कंप्युटर के कार्यों को कर सके और उन सब लोगों की इन्ही कोशिशों की वजह से आज यें supercomputers दुनिया के सामने है,

लेकिन फिर भी supercomputers को बनाने का एक बहुत बड़ा श्रेय Seymour Cray को जाता है, इनका पूरा नाम था Seymour Roger Cray,

यह एक अमेरिकन इलेक्ट्रिकल इंजीनियर थे, इन्होंने 1964 में दुनिया का पहला supercomputer बनाया था, जिसका नाम था “CDC 6600”,

वैसे इससे पहले भी बहुत सारे ऐसे कंप्यूटर्स बनाए गए थे जो की उस समय बाकी कंप्यूटर्स की तुलना में बहुत अधिक तेज थे, लेकिन जब Seymour Cray ने “CDC 6600” को बनाया था तो वह उस समय के कंप्यूटर्स से कईं गुना अधिक तेज था,

जिस वजह से इसे supercomputers की खोज माना गया, उनकी इस खोज के लिए Seymour Cray को “The Father Of Supercomputing” भी कहा जाता है।

आइये अब हम ये जानते लेते है कि सुपरकंप्यूटर का क्या उपयोग होता है? क्यूँ इसे इतना महत्व दिया जाता है? इसके फायदे क्या क्या है? 

सुपरकंप्यूटर का उपयोग (Uses of Supercomputer in Hindi)

सुपरकम्प्युटर के उपयोग निम्नलिखित है -:

1) हाई प्रोसेसिंग वाले कार्यों में (In High Processing Jobs)

ऐसे कामों में जहां बहुत अधिक प्रोसेसिंग स्पीड की जरूरत होती है, वहाँ supercomputers का प्रयोग किया जाता है, जैसे की ऐनमैटिड मूवीज या ऐनमैटिड सीरीज में |

ऐनमैटिड मूवीज या सीरीज को बनाने के लिए बहुत अधिक प्रोसेसिंग स्पीड की जरूरत होती है, क्यूंकि इसमें हर एक फ्रेम को कंप्युटर में ही बनाना होता है और फिर उसे animate भी करना होता है, 

और जब वह काम खत्म हो जाए तो उस मूवी को फिर render भी करना होता है, जिसके लिए भी हमें हाई प्रोसेसिंग स्पीड की जरूरत पड़ती है, क्यूंकी हमें मूवी की quality भी अच्छी चाहिए होती है, 

तो इतनी अधिक प्रोसेसिंग वाले कार्य को किसी साधारण कंप्युटर में करना बहुत कठिन है, यदि हम साधारण कंप्युटर में यह कार्य करते भी है तो इसमें हमारा बहुत सारा समय बर्बाद हो जाता है,

तो इसलिए इन कामों में जिनमें प्रोसेसिंग स्पीड बहुत अधिक चाहिए होती है, उनमें supercomputers का प्रयोग किया जाता है।

2) बड़ी कंपनियों में (In Big Companies)

बड़ी बड़ी companies जैसे की IBM और PayPal में इन supercomputers का उपयोग किया जाता है | 

इन companies में ढेर सारे यूजर होते है और इन companies को अपने यूजर के डाटा को मैनेज करना होता है, 

इतना ही नहीं इन companies की जिम्मेदारी होती है कि वह अपने यूजर के डाटा को सुरक्षित भी रखे,

तो ऐसे में इन जगहों पर भी इतने सारे डाटा को secure रखने और मैनेज करने के लिए supercomputers का प्रयोग किया जाता है।

3) विज्ञान क्षेत्र और इंजीनियरिंग क्षेत्र की समस्याएं (To solve problems in the field of science and engineering)

विज्ञान क्षेत्र में और इंजीनियरिंग क्षेत्र में कईं बार ऐसी ऐसी मुश्किल समस्याएं सामने आ जाती है, जो की एक साधारण कंप्युटर सुलझा नहीं सकता तो ऐसे में supercomputers का प्रयोग किया जाता है,

इसी के साथ वैज्ञानिको और इंजीनियरस को कभी कभी कुछ ऐसे experiments और टेस्ट करने पड़ते है, जो की यदि वह असल ज़िंदगी में करें तो वह बहुत खतरनाक साबित हो सकती है

तो ऐसे में supercomputers की मदद से उन tests का एक demo इन supercomputers में बनाया जाता है, जिसमें वह बार बार अपने tests को अलग कंडिशन्स में रख के देखते है कि उनका रिजल्ट क्या होगा।

4) समय की बचत (Time Saving)

Supercomputers की प्रोसेसिंग स्पीड बहुत अधिक होती है, इसलिए यह एक साथ कईं कामों को कर सकता है, यह ढेर सारी बड़ी बड़ी calculations का हल चुटकियों में निकालने की क्षमता रखता है.

इसके आलवा भी कईं बड़े कार्य जिनको कोई साधरण कंप्युटर कर भी नहीं सकता, यह वैसे कईं कामों को एक साथ कर सकता है.

क्यूंकी यह इतने कार्यों को एक साथ कर सकता है, इसलिए यूजर को वह काम एक एक करके नहीं करने पड़ते, जिसकी वजह से यह यूजर का ढेर सारा समय बचा सकता है।

सुपरकम्प्युटर की विशेषताएं (Features of Supercomputer In Hindi)

  • सुपरकम्प्युटर एक समय में सौ से भी अधिक लोगो को सपोर्ट करता हैं, मतलब एक ही समय में कई व्यक्ति सुपर कंप्यूटर का उपयोग कर सकते हैं।
  • ये काफी ज्यादा महंगे होते है | 
  • ये मशीन बड़ी मात्रा में calculations करने में सक्षम होते हैं जो मानव क्षमताओं से परे हैं | 
  • supercomputers में 1 से अधिक CPU (Central Processing Unit) होते हैं इसलिए इनकी प्रोसेसिंग स्पीड काफी हाई होती है | 
  • शुरू में इनका उपयोग राष्ट्रीय सुरक्षा, परमाणु हथियार डिजाइन और क्रिप्टोग्राफी से संबंधित अनुप्रयोगों में किया गया था, लेकिन आजकल ये एयरोस्पेस, ऑटोमोटिव और पेट्रोलियम उद्योगों द्वारा भी उपयोग किये जाते हैं।

तो दोस्तों यहाँ तक अब हम जान चुके है कि सुपर कंप्यूटर क्या है और इनके उपयोग क्या क्या है, तो चलिए अब हम ये भी जान लेते है कि विश्व के सबसे तेज सुपर कम्प्यूटर्स  कौन से है?

विश्व के सबसे तेज सुपर कंप्यूटर का क्या नाम है?

हम नीचे आपके साथ एक लिस्ट शेयर करने वाले है जो की Top500.org June 2021 List के अनुसार विश्व के सबसे तेज supercomputers है -:

1. Supercomputer Fugaku -: इस supercomputer को विश्व का सबसे तेज कंप्युटर कहा जाता है, इस supercomputer को RIKEN और Fujitsu रिसर्च organizations ने 2014 में बनाना शुरू किया था, जिसे 9 मार्च 2021 को पूरा किया गया।

2. Summit -: इस supercomputer को IBM ने बनाया है, इसे दुनिया का दूसरा (2nd) सबसे तेज supercomputer कहा जाता है, Supercomputer Fugaku के आने से पहले यह नवंबर 2018 से लेकर जून 2020 तक दुनिया का सबसे तेज कंप्युटर रह चुका है।

3. Sierra -: Sierra विश्व का तीसरा (3rd) सबसे तेज supercomputer है, इसे इस समय Lawrence Livermore National Laboratory में रखा गया है।

4. Sunway TaihuLight -: यह एक Chinese supercomputer है, यह इसकी स्पीड के लिए विश्व में चौथे स्थान पर आता है, लेकिन 2018 में इस supercomputer ने विश्व में तीसरा स्थान हासिल किया था।

5. Perlmutter -: Perlmutter जिसे NERSC-9 भी कहा जाता है, दुनिया के सबसे तेज supercomputers में पाँचवे नंबर पर आता है, इसका नाम नोबेल प्राइज़ विजेता Saul Perlmutter के नाम पर रखा गया है।

5. Selene -: यह सुपर कंप्यूटर Nvidia ने बनाया था और आते ही इस supercomputer ने अपनी जगह पाँचवे (5th) स्थान पर बना ली थी, लेकिन उसके बाद यह छठे (6th) स्थान पर चला गया, ऐसे ही इसकी रैंक ऊपर नीचे होती रही है, लेकिन इस समय यह छठे रैंक पर है।

6. Tianhe-2A -: यह भी एक Chinese supercomputer है, जून 2013 में इसे विश्व का सबसे तेज supercomputer कहा गया था और 2016 में इस कंप्युटर से यह टाइटल Sunway TaihuLight ने ले लिया था, इस समय यह सुपर कंप्यूटर सातवे (7th) स्थान पर है।

7. JUWELS Booster Module -: यह सुपर कंप्यूटर विश्व में सबसे तेज कंप्यूटर्स में आठवें (8th) नंबर पर आता है, यह सिस्टम Europe का सबसे शक्तिशाली सिस्टम माना जाता है।

8. HPC5 -: यह supercomputer विश्व में सबसे तेज कंप्यूटर्स में नौवें (9th) नंबर पर आता है, इस supercomputer की प्रोसेसिंग स्पीड 51.7 petaFlops की है।

9. Frontera -:Frontera दुनिया के सबसे powerful सुपर कंप्यूटर में से एक माना जाता है, इस समय यह दुनिया में दसवें (10th) नंबर पर है, लेकिन जून 2019 में इस supercomputer को विश्व में आठवें (8th) नंबर पर रखा गया था।

FAQ – Frequently Asked Questions

भारत का पहला सुपर कंप्यूटर कौन सा है?

भारत का सबसे पहला सुपरकंप्युटर जिसे भारत ने खुद बनाया था, वह है PARAM 8000, इसे जुलाई 1991 में दुनिया के सामने लाया गया था।

भारत का सबसे तेज सुपर कंप्यूटर कौन सा है?

भारत का सबसे तेज सुपर कंप्युटर है Param Siddhi, यह विश्व के सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर्स में 63वें नंबर आता है।

सुपर कंप्यूटर की कीमत क्या होती है?

सुपर कंप्युटर में बहुत सारे CPU होते है, तो इसकी कीमत भी इसी बात पर निर्भर करती है की इसमें कितने CPU लगे हुए है और उन CPU की परफॉरमेंस कैसी है, सुपर कंप्युटर बहुत महंगे होते है, लगभग सभी अच्छे सुपर कंप्यूटर्स की कीमत $100Million से शुरू होती है, दुनिया के सबसे तेजसुपर कंप्युटर Fugaku की कीमत $1.22 मानी गई है।

दोस्तों आज के समय में प्रतिदिन टेक्नोलॉजी में कोई नया अपडेट आ जाता है, तो ऐसा हो सकता है कि आने वाले समय में हमारी द्दारा बताई गई जानकारी में भी कोई बदलाव या अपडेट आ जाए, 

तो यदि आपको ऐसी कोई बदलाव का पता चले तो आप हमें कमेंट में जरूर बताएं, हम इस आर्टिकल को जल्द से जल्द अपडेट करके, उस बदलाव को इसमें शामिल करने का प्रयास करेंगे।

निष्कर्ष

तो आज के इस आर्टिकल में हमनें जाना कि सुपर कंप्यूटर क्या है? (What is Supercomputer in Hindi) सुपर कंप्यूटर का इतिहास क्या है? (History of Supercomputer In Hindi) और सुपर कंप्यूटर का उपयोग क्यों किया जाता है?

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया है तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी Supercomputer Kya Hai के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके |

अगर आपको अभी भी What is Supercomputer in Hindi से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप कमेंट्स के जरिए हमसे पुछ सकते है। मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

ऐसे ही नया टेक्नोलॉजी ,Computer Science, computer fundamentals से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी |

Jeetu Sahu is A Web Developer | Computer Engineer | Passionate about Coding, Competitive Programming and Blogging

Leave a Comment