C Language – Compilation Process In C In Hindi – Master Programming

सी लैंग्वेज सिखने की इस सीरीज में आज हम बात करने वाले है Compilation process के बारे में कि Compilation process क्या है? (What is Compilation process In Hindi) Compilation process क्यों करते है आदि सब आज के इस पोस्ट में जानेंगे | 

C Language-Compilation Process In-C In Hindi
C Language – Compilation Process In C In Hindi

Compilation Process क्या है? (What is Compilation Process In Hindi)

Compilation एक ऐसा प्रोसेस है जिसके द्वारा सोर्स कोड को ऑब्जेक्ट कोड में कन्वर्ट किया जाता है Compilation Process का काम कम्पाइलर द्वारा पूरा किया जाता है | कम्पाइलर सोर्स कोड में syntactical और structural errors है या नहीं को चेक करता है और फिर कोई error न होने पर सोर्स कोड को ऑब्जेक्ट कोड में Convert करता है | 

हमें संकलन प्रक्रिया की आवश्यकता क्यों है (Why do we need a compilation process)

सी लैंग्वेज एक High Level प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसकी वजह से सी लैंग्वेज में लिखे गए कोड को मशीन के समझने वाली भाषा (बाइनरी लैंग्वेज या 0’s और 1’s ) में कन्वर्ट करने के लिए compilation की जरुरत होती है |

Compilation Process का ये काम Compiler द्वारा किया जाता है कम्पाइलर सी लैंग्वेज में लिखे गए कोड को मशीन कोड में कन्वर्ट कर देता है जिससे की मशीन उस कोड को आसानी से समझने में सक्षम हो जाता है |

Compilation Process In C In Hindi

Compilation process का यह काम चार Steps में Complete होता है |

  • Pre-processing
  • Compilation
  • Assembly
  • Linking

Pre-processing

Pre-processing का ये काम Preprocessor द्वारा किया जाता है | Source code (उस कोड को Source code कहते है जिसे हम text editor में लिखते है तथा जिसका extension “.c” होता है) सबसे पहले  Preprocessor से होकर गुजरता है | Preprocessor उस Source code को इनपुट के रूप में लेता है और फिर उस Source code से सारे Comments को हटा देता है | 

Preprocessor #include से शुरू होने वाले कोड को interprets करता है For Example – अगर हमारे कॉड में #include <stdio.h> हैडर फाइल का उल्लेख है तो Preprocessor, #include <stdio.h> कोड को ‘stdio.h’ फाइल के कंटेंट से replace कर देता है |  इसे ही Pre-processing कहते है | Pre-processing के बाद सोर्स कोड Compiler के पास जाता है | 

Compilation 

Compilation का यह काम Compiler द्वारा किया जाता है | कम्पाइलर Preprocessor से प्राप्त कोड को असेंबली लैंग्वेज में कन्वर्ट कर देता है इसे ही Compilation कहते है | कम्पाइलर द्वारा Compilation के बाद कन्वर्ट किये गए कोड को असेम्बलर ही समझ सकता है इसलिए Compilation के बाद Code असेम्बलर के पास जाता है | 

Assembly

कम्पाइलर द्वारा Compilation के बाद प्राप्त कोड को Assembler मशीन कोड में कन्वर्ट कर देता है और एक ऑब्जेक्ट फाइल बना देता है जिसे dos में “.obj” और Unix ऑपरेटिंग सिस्टम में “.o” से रिप्रेजेंट किया जाता है | For Example – अगर हमारे Source फाइल का नाम master.c  है तो उस फाइल का नाम master.obj हो जायेगा |

Linking

सी लैंग्वेज में हम जितने भी प्रोग्राम बनाते है उन सबमे कही न कही Predefined library function जैसे – printf(), scanf(), getch(), आदि का उपयोग होता ही है इन Predefined library function का डिक्लेरेशन हैडर फाइल में होता है तथा इनका डेफिनेशन लाइब्रेरी फाइल्स होता है | ये लाइब्रेरी फाइल्स पहले से Compiled होते है और इन लाइब्रेरी फाइल ‘.lib’ (or ‘.a’) extension के साथ Stored होते है |

Compilation process के इस स्टेप में जब हम Linker का उपयोग करते है तो लिंकर लाइब्रेरी फाइल के ऑब्जेक्ट कोड को हमारे प्रोग्राम के ऑब्जेक्ट कोड के साथ मिला देता है और एक नई फाइल बना देता है जिसे “.exe” फाइल या “executable file” कहते है | यही executable file. सॉफ्टवेयर कहलाता है और इस तरह से सी लैंग्वेज में लिखा गया कोई प्रोग्राम एक सॉफ्टवेयर के रूप में बनकर तैयार होता है |

Conclusion 

दोस्तों आज के इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप Compilation process क्या है? (What is Compilation process In C In Hindi) Compilation process क्यों करते है के बारे में अच्छे से जान गए होंगे |

दोस्तों आशा करता हु कि आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी और आपको सी लैंग्वेज में Compilation process क्या है? (What is Compilation process In C In Hindi) के बारे में काफी जानकरी हुई होगी |

दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे ताकि उनको भी सी लैंग्वेज में Compilation process क्या है? (What is Compilation process In C In Hindi) Compilation process क्यों करते है , के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त हो सके |

ऐसे ही programming, coding, computer science , से रिलेटेड जानकारियों के लिए आप हमारे वेबसाइट MasterProgramming.in को सब्सक्राइब कर ले जिससे की आने वाली नई पोस्ट की जानकारी आप तक जल्दी पहुंचे |

दोस्तों आज की पोस्ट कैसे लगी जरूर बताएं और अपने दोस्तों को शेयर जरूर करे | जिससे उनको भी इस बारे में अच्छे से पता चल सके |

Hey there, welcome to Master Programming. I am Jeetu Sahu , A Web Developer | Computer Engineer | Passionate about Coding, Competitive Programming and Blogging

Leave a Comment