|

कार्ड रीडर क्या है? – What is Card Reader In Hindi

हेलो फ्रेंड्स, आज के इस आर्टिकल में हम Card Reader के बारे बात करने वाले है। 

आज हम विस्तार से जानेंगे कि Card Reader Kya Hai? कार्ड रीडर कितने प्रकार के होते है? और कार्ड रीडर का क्या महत्त्व है? 

तो आइये अब बिना समय गवाए सबसे पहले ये जान लेते है कि कार्ड रीडर क्या है? (What Is Card Reader In Hindi)

कार्ड रीडर क्या है? - What is Card Reader In Hindi

कार्ड रीडर क्या है? – What is Card Reader In Hindi

आपने Barcode और Biometric का इस्तेमाल अपने लाइफ कभी न कभी जरुरु किया होगा या इनका इस्तेमाल होते जरुरु देखा होगा। Barcode का इस्तेमाल किसी प्रोडक्ट को यूनिक identify करने के लिए किया जाता है और Biometric का उपयोग यूजर की पहचान के लिए किया जाता है। 

Barcode और Biometric द्दारा डेटा को रीड करने के लिए उनमे एक कार्ड होता है जिसे कार्ड रीडर कहा जाता है। 

कार्ड रीडर, एक प्रकार का Input Device है जिसका मुख्य काम मेमोरी कार्ड, SD कार्ड, माइक्रोचिप्स या फिर कंप्यूटर के अंदर जो भी डाटा पड़ा है उसको Readout करना और उसको दूसरे Device तक Access पहुंचाना है।

मेमोरी कार्ड रीडर,  मेमोरी कार्ड या स्मार्ट कार्ड में मौजूद डेटा को रीड करने के लिए उपयोग में लाया जाता है। और एक मैग्नेटिक कार्ड रीडर, मैग्नेटिक कार्ड (जैसे कि क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड) को पढ़ने के लिए उपयोग में  लाया जाता है। 

कार्ड रीडर एक छोटा सा Device होता है जिसके अंदर आप अपने किसी भी तरह के SD कार्ड को Insert कर सकते हैं और उनको Insert करने के बाद आप उसको अपने कंप्यूटर, लैपटॉप या किसी मल्टीमीडिया प्लेयर के साथ यूज कर सकते हैं 

कार्ड रीडर का इतिहास – Histroy of Card Reader In Hindi

कार्ड रीडर बहुत ही पुराने समय से यूज होता आया है लेकिन उस समय इस तरह के कार्ड रीडर नहीं होते थे। उस समय पंच कार्ड होते थे जो डाटा को स्टोर करते थे तथा उनको ट्रांसफर करने में भी मदद करते थे।

पंच कार्ड को सर्वप्रथम Joseph Marie Jacquard ने 1803 में बनाया था। पंच कार्ड को Joseph Marie Jacquard कपड़े बुनने या बनाने वाली मशीन में उपयोग करते थे। 

सन् 1837 में पंच कार्ड को नया पैटर्न देकर उसे फिर से बनाकर उसे चार्ल्स बैबेज के एनालिटिकल इंजन कंप्यूटर में उपयोग लाया गया जिसमें यह मैथमेटिकल कैलकुलेशन में प्रयोग हुआ. चार्ल्स बैबेज के इस इनोवेशन के कारण हम चार्ल्स बैबेज को “द फादर ऑफ मॉडर्न कंप्यूटर” के नाम से सम्मानित करते हैं .

पंच कार्ड एक तरह के हार्ड पन्नों से बना होता था जिसमें हम अपने डिजिटल डाटा को स्टोर करके रख सकते थे हालाँकि आज के समय में इसका उपयोग न के बराबर होता है। 

कार्ड रीडर के प्रकार – Types of Card Reader In Hindi

बाजार में काम के हिसाब से अलग अलग प्रकार के कार्ड रीडर होते है इनमे से कुछ कार्ड रीडर निम्नलिखित है -: 

1) Smart card readers

स्मार्ट कार्ड रीडर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो प्लास्टिक का बना होता है यह हमारे पॉकेट के साइज का होता है। इसका उपयोग स्मार्ट कार्ड के अंदर के डेटा को रीड करने के लिए किया जाता है।  

स्मार्ट कार्ड, पर्सनल डाटा को स्टोर करके रखने में काम आता है इस स्मार्ट कार्ड में इंटेग्रेटेड चिप्स लगे होते है जो कि कार्ड रीडर की सहायता से पढ लिया जाता है ।

2) Memory card readers

मेमोरी कार्ड रीडर,  मेमोरी में पड़े डाटा को read/write करता है। यह कॉम्पैक्ट फ़्लैश, मल्टीमीडिया कार्ड तथा सेक्योर डिजिटल कार्ड के डेटा तक पहुंचने के लिए एक माध्यम है।  

3) Access control card reader

कई सारे business द्दारा यह कार्ड उपयोग में लाया जाता है यह फिजिकल कार्ड से थोड़ा बेहतर होता है। इसके अंतर्गत Proximity Card Readers आता है। यह ज्यादा सिक्योर और ज्यादा सुविधाजनक होता है।

  • Barcode card reader.
  • Biometric card reader.
  • Magnetic stripe card reader.
  • Wiegand card reader.
  • Smart card reader.

4) Banking card readers

बैंकों में एक सर्विस की तरह एक कार्ड प्रोवाइड किया जाता है जिसका उपयोग  ATM में जाकर जल्दी से जल्दी पैसे निकालने और ऑनलाइन माध्यम से पैसों की लेन देन करने के लिए किया जाता है। इसमें एक चिप लगी होती है जिसके डेटा को कार्ड रीडर की सहायता से रीड किया जाता है जिससे ही Transaction सफल हो पाता है।

कार्ड रीडर का महत्व (Importance of Card Reader)

कार्ड रीडर का महत्व काफी बढ़ गया है इसका यूज आज कई लोग करते हैं। यह आपके जरूरी दस्तावजों को स्टोर करने में मदद करता है। यह डिवाइस दूसरे डिवाइस पर भी सूचना को ट्रांसफर करने की सुविधा प्रदान करता है।

कार्ड रीडर कौन सा डिवाइस है?

कार्ड रीडर एक इनपुट डिवाइस है इसे इनपुट डिवाइस इसलिए कहा जाता है क्योकि इसके माध्यम से हम मेमोरी कार्ड के अंदर मौजूद डेटा को कंप्यूटर को देते है या डेटा को कंप्यूटर में इनपुट करते है। 

कार्ड रीडर के फायदे (Advantages Of Card Reader In Hindi)

  • इसका उपयोग बहुत ही आसान है 
  • यह कुछ मिनटों में ही आपके डाटा को ट्रांसफर कर देता है इसमें आप फाइल का जल्दी से जल्दी Access पा सकते है और अपना टाइम बचा सकते हैं 
  • आप इसमें प्लग-एंड-प्ले कर सकते हैं।

कार्ड रीडर के नुकसान (Disadvantages Of Card Reader In Hindi)

  • यह एक छोटी सी डिवाइस होती है जिसकी गुम हो जाने की अधिक संभावना होती है।

Conclusion

दोस्तों आज के इस आर्टिल्स में हमने Card Reader के बारे में बात की और जाना कि कार्ड रीडर क्या है? (What is Card Reader In Hindi) और कार्ड रीडर कितने प्रकार के होते है?

तो दोस्तों आशा करता हूँ कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और यदि ये आर्टिकल आपको पसंद आया है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी Card Reader Kya Hai के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके .

अगर आप कंप्यूटर फंडामेंटल Complete Tutorial चाहते है तो मेरे इस आर्टिकल Computer Fundamental Tutorial In Hindi को देखे | यहाँ आपको कंप्यूटर फंडामेंटल्स के सभी टॉपिक्स step by step मिल जाएगी |

अगर आपको अभी भी Card Reader In Hindi से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप कमेंट्स के जरिए हमसे पुछ सकते है। मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

ऐसे ही टेक्नोलॉजी, Computer Science से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी 

Leave a Reply

Your email address will not be published.