Primary Memory क्या है? (What is Primary Memory In Hindi)

मेमोरी कंप्यूटर की सबसे जरूरी डिवाइस में से एक है | बिना मेमोरी के कंप्यूटर कोई कार्य नहीं कर सकता क्योंकि जब हम कंप्यूटर में कोई डेटा स्टोर ही नहीं कर पाएंगे तो कंप्यूटर किस डेटा पर कार्य करेगा |  

ऐसे में डेटा और निर्देशों को स्टोर करने के लिए कंप्यूटर में मेमोरी की आवश्यकता होती है।

आज इस आर्टिकल में हम बात करने वाले है Primary Memory or Main Memory के बारे | 

आज हम विस्तार से जानेंगे कि प्राइमरी मेमोरी क्या है? (What is Primary Memory In Hindi) और प्राइमरी मेमोरी कितने प्रकार की होती है? (Types of Primary Memory In Hindi) |

इससे पिछले आर्टिकल में हमने डिटेल्ड में जाना था कि कंप्यूटर मेमोरी क्या होती है? 

अगर आपने वो आर्टिकल नहीं पढ़ा तो उसे एक बार जरूर पढ़ लें जिससे कि आपको Computer memory के बारे में बेसिक समझ हो सके | 

आइये अब हम जानते है कि प्राइमरी मेमोरी क्या होती है? (What is Primary Memory In Hindi) |

Primary Memory Kya Hai? (What is Primary Memory In Hindi)
Primary Memory Kya Hai? (What is Primary Memory In Hindi)

Primary Memory Kya Hai? (What is Primary Memory In Hindi)

Primary Memory कम्प्यूटर की मुख्य मेमोरी है जो motherboard में CPU से लगी हुई होती है | सीपीयू के प्रोसेसिंग के लिए आवश्यक सभी डेटा प्राइमरी मेमोरी में स्टोर होती है | यह कंप्यूटर की इंटरनल मेमोरी है | जिसे Main Memory और Primary Memory के नाम जाता है | 

प्राइमरी मेमोरी की स्टोरेज क्षमता सेकेंडरी मेमोरी से बहुत कम तथा साइज में छोटी होती है जिससे डेटा को ढूंढ़ने में काफी काम समय लगता है इसलिए यह सेकेंडरी मेमोरी से काफी ज्यादा फ़ास्ट होता है | 

प्राइमरी मेमोरी एक Volatile Memory है जिससे डेटा को काफी तेजी से एक्सेस किया जा सकता है | Volatile Memory का मतलब, प्राइमरी मेमोरी में जो डेटा होता है वो केवल तब तक रहता है जब तक वो कंप्यूटर चालू रहता है, जैसे ही कंप्यूटर बंद होता है प्राइमरी मेमोरी में स्टोर डेटा भी नष्ट हो जाता है | 

प्राइमरी मेमोरी क्या है (What is Primary Memory In Hindi)
Primary Memory

प्राइमरी मेमोरी एक अर्धचालक (semiconductor) मेमोरी है। जो सेकेंडरी मेमोरी से महंगी होती है | 

प्राइमरी मेमोरी मुख्य रूप से दो प्रकार के होते है – RAM (Random Access Memory), ROM (Read Only Memory)

आइये जानते है प्राइमरी मेमोरी के इन प्रकारों के बारे में |

प्राइमरी मेमोरी के प्रकार (Types of Primary Memory In Hindi)

  1. RAM (Random Access Memory)
  2. ROM (Read Only Memory)

RAM (Random Access Memory)

Random Access Memory जिसे RAM के रूप में भी जाना जाता है, एक हार्डवेयर डिवाइस है जो कंप्यूटर के motherboard में लगा होता है | 

यह एक इंटरनल मेमोरी है जो सीपीयू को प्रोग्राम तथा प्रोग्राम के प्रोसेस से प्राप्त डेटा को स्टोर करने की अनुमति प्रदान करता है | 

इसका उपयोग मेमोरी में डेटा को read/write करने के लिए किया जाता है | 

यह एक Volatile memory है इसका मतलब रैम में डेटा अस्थाई रूप से स्टोर होती है |  

RAM में रखी जानकारी तब खो जाती है जब पीसी या लैपटॉप को बिजली की आपूर्ति बंद हो जाती है |

RAM एक चिप के रूप में आता है जो individually मदरबोर्ड पर या मदरबोर्ड से जुड़े एक छोटे बोर्ड पर चिप्स के रूप में लगाया जाता है।

हार्ड डिस्क ड्राइव (HDD), सॉलिड-स्टेट ड्राइव (SSD), ऑप्टिकल ड्राइव आदि जैसी अन्य memory की तुलना में RAM में read/write का कार्य काफी फ़ास्ट होता है।

यह कंप्यूटर सिस्टम की एक Main memory है। इसे temporary memory या  cache memory भी कहा जाता है। 

रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM) सीपीयू द्वारा सीधे एक्सेस की जाने वाली एक main memory है।

RAM में संग्रहीत सभी डेटा को किसी भी समय randomly पढ़ा या एक्सेस किया जा सकता है।

कंप्यूटर की परफॉर्मेंस मुख्य रूप से Ram की साइज और स्टोरेज क्षमता पर निर्भर करता है। 

यदि operating system और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को चलाने के लिए पर्याप्त रैम (रैंडम एक्सेस मेमोरी) नहीं है, तो कंप्यूटर धीमी गति से परफॉरमेंस करेगी |

तो, कंप्यूटर में जितनी अधिक RAM होगी, कंप्यूटर उतनी ही तेजी से काम करेगी।

RAM के उदाहरण – Static RAM and Dynamic RAM 

ROM (Read Only Memory)

ROM एक ऐसा मेमोरी डिवाइस है जिसका उपयोग कंप्यूटर निर्माता द्वारा चिप के अंदर किसी इनफार्मेशन को स्थायी रूप से स्टोर करने के लिए किया जाता है | 

ROM एक रेडी ओनली मेमोरी (Read Only Memory) है जिसमे स्टोर डेटा और इनफार्मेशन को केवल रीड किया जा सकता है उसमें कोई बदलाव नहीं किया जा सकता | 

यह एक “Non-Volatile Memory है जिसमे स्टोर डेटा और इंस्ट्रक्शंस बिजली बंद होने या सिस्टम बंद होने पर भी नष्ट नहीं होती | 

एक ROM के अंदर कुछ important इंस्ट्रक्शंस या प्रोग्राम होते हैं जो कंप्यूटर को शुरू करने या बूट करने के लिए आवश्यक होते हैं।

कंप्यूटर को बूट करने के लिए जो आवश्यक Instructions होते है वो सभी Instructions कंप्यूटर निर्माता द्वारा ROM में स्टोर किया जाता है |  

ROM एक long-term internal मेमोरी है। जो RAM के समान है जिसको CPU द्वारा सीधे एक्सेस किया जाता है। 

यह RAM की तुलना में थोड़ा धीमा होता है इसलिए यह RAM से सस्ता मिलता है | 

ROM का एक सरल उदाहरण वीडियो गेम कंसोल में उपयोग किया जाने वाला कारतूस है जो सिस्टम को कई गेम चलाने की अनुमति देता है।

कंप्यूटर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक devices जैसे स्मार्टफोन, टैबलेट, टीवी, एसी आदि पर स्थायी रूप से संग्रहीत डेटा भी ROM का एक उदाहरण है।

ROM का उपयोग फर्मवेयर को स्टोर करने के लिए भी किया जाता है, जो एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है जो हार्डवेयर से जुड़ा रहता है | 

यह अन्य डिवाइस के साथ कम्युनिकेशन करने और इंटरेक्शन करने के लिए कंप्यूटर डिवाइस को इंस्ट्रक्शंस प्रदान करता है।

ROM के उदाहरण -: PROM , EPROM, EEROM, EEPROM, UVPROM (Ultra Violet Programmable Read Only Memory)

दोस्तों यहाँ तक आपको समझ आ गया होगा की Primary Memory Kya Hai ? और Primary Memory Kitne Prakar Ke Hote Hain

Must Read 👉 Secondary Memory Kya Hai?

प्राथमिक मेमोरी की विशेषताएं (Characteristics of Primary Memory or Main Memory)

  1. इसे कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी के रूप में जाना जाता है।
  2. यह सबसे तेज मेमोरी है | 
  3. यह volatile मेमोरी है, यानी बिजली बंद होने के बाद इसके अंदर के सभी डेटा और इंफॉर्मेशन नष्ट हो जाते है | 
  4. यह एक अर्धचालक मेमोरी हैं।
  5. यह कंप्यूटर की इंटरनल मेमोरी है |
  6. यह प्रोसेसर (CPU) द्वारा सीधे accessed होता है |
  7. यह सेकेंडरी मेमोरी की तुलना में काफी फ़ास्ट होती है 
  8. कंप्यूटर बिना प्राइमरी मेमोरी के नहीं चल सकता।

निष्कर्ष

दोस्तों आशा करता हु कि आज के इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको कंप्यूटर मेमोरी क्या है? ( What is Primary Memory In Hindi ) और कंप्यूटर मेमोरी कितने प्रकार के होते है? से संबंधित सभी जानकारी मिल गई होगी और आपको और कही इसके बारे में सर्च करना नहीं पड़ेगा |

अगर आप कंप्यूटर फंडामेंटल Complete Tutorial चाहते है तो मेरे इस आर्टिकल Computer Fundamental Tutorial In Hindi को देखे | यहाँ आपको कंप्यूटर फंडामेंटल्स के सभी टॉपिक्स step by step मिल जाएगी |

दोस्तों आशा करता हु कि आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी और आपको Primary Memory Kya Hai ? के बारे में काफी जानकरी हुई होगी |

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया है तो इस पोस्ट को अपने अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी ये जानकारी प्राप्त हो सके |

अगर आपको अभी भी Primary Memory In Hindi से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप जरूर बताये मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

एसी ही नया टेक्नोलॉजी , Computer science से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी |

Thank you आपका दिन मंगलमय हो |

पढ़ते रहिए और बढ़ते रहिए | Keep Reading and Keep Growing

Jeetu Sahu is A Web Developer | Computer Engineer | Passionate about Coding, Competitive Programming and Blogging

Leave a Comment