(Updated) कैश मेमोरी क्या है? – What is Cache Memory In Hindi

हेलो फ्रेंड्स आज के इस आर्टिकल में हम Cache Memory के बारे  में बात करें वाले है |

आज हम विस्तार से जानेंगे कि कैश मेमोरी क्या है? (What is Cache Memory In Hindi) और कैश मेमोरी कितने प्रकार के होते है? (Types of Cache Memory In Hindi) और कैसे Cache Memory हमारे कंप्यूटर CPU की कार्यक्षमता को बढ़ाने में सहायक होता है |

तो चलिए बिना समय गवाए सबसे पहले जानते है कि Cache Memory Kya Hai?

Cache Memory Kya Hai? (What is Cache Memory In Hindi)
Cache Memory Kya Hai? (What is Cache Memory In Hindi)

Cache Memory Kya Hai? (What is Cache Memory In Hindi)

Cache Memory, एक हाई स्पीड सेमीकंडक्टर कंप्यूटर मेमोरी है जिसका उपयोग CPU की स्पीड तथा परफॉरमेंस को बढ़ने के लिए किया जाता है | कैश मेमोरी, Primary और Secondary Memory की तुलना में काफी महंगा होता है | यह सीपीयू और प्राइमरी मेमोरी के बीच बफर के रूप में कार्य करता है।

इसका उपयोग डेटा और प्रोग्राम के उन हिस्सों को रखने के लिए किया जाता है जो सीपीयू द्वारा सबसे ज्यादा बार उपयोग किए जाते हैं | 

ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा, CPU प्रोसेसिंग के लिए आवश्यक डेटा और प्रोग्राम के हिस्सों को डिस्क से प्राइमरी मेमोरी में और फिर प्राइमरी मेमोरी से कैश मेमोरी में स्थानांतरित किया जाता है, जहां से सीपीयू उन्हें आसानी से एक्सेस कर सकता है।

जब भी सीपीयू को कोई डेटा चाहिए होता है तो सीपीयू सबसे पहले उस डेटा को कैश मेमोरी में ढूढ़ता है | 

यदि सीपीयू को कैश मेमोरी में वो डेटा मिल जाता है तो सीपीयू उस डेटा को लेकर अपना प्रोसेस Continue करता है और यदि डेटा नहीं मिल पता तो सीपीयू उस डेटा को RAM या प्राइमरी मेमोरी में ढूंढ़ता है जहाँ पर ज्यादातर टाइम डेटा मिलने की सम्भावना होती है | 

Cache Memory, सीपीयू के मुख्य मेमोरी से डेटा एक्सेस टाइम को कम करता है। जिससे सीपीयू की Performance काफी बढ़ जाती है |

यह एक छोटे आकार की चिप-आधारित कंप्यूटर मेमोरी है जो मुख्य मेमोरी से काफी तेज होती है, और कभी-कभी, इसे सीपीयू मेमोरी भी कहा जाता है, क्योंकि यह सीपीयू चिप के बहुत करीब होता है। 

कैश मेमोरी एक टेम्पररी मेमोरी है जो कि काफी फ़ास्ट और महंगा होता है | 


कैश मेमोरी के प्रकार (Types of Cache Memory In Hindi)

परंपरागत रूप से, कैश मेमोरी को “Levels” के रूप में बांटा गया है | 

  1. Level 1 Cache 
  2. Level 2 Cache 
  3. Level 3 Cache 

Level 1 Cache 

यह पहले लेवल का कैश मेमोरी है जिसे L1 cache या Level 1 cache के रूप  में जाना जाता है | Level 1 cache मेमोरी, साइज में छोटी होती है और इसकी स्पीड काफी ज्यादा होती है |  यह मेमोरी CPU के अंदर मौजूद होती है जो काफी कम मात्रा में डेटा को स्टोर करती है | 

यदि CPU चार कोर वाला होता है तो हर CPU Core का अपना एक Level 1 cache  मेमोरी होता है | इसकी स्पीड CPU जैसी ही होती है | Level 1 cache मेमोरी की साइज 2KB से 64 KB होती है | 

 Level 1 cache memory को हम दो भागो में बाँट सकते है -:

  • Instruction cache
  • data cache

Instruction cache – यह CPU प्रोसेसिंग के लिए आवश्यक इंस्ट्रक्शंस को स्टोर करने का कार्य करता है | 

Data cache – यह CPU प्रोसेसिंग में उपयोग होने वाला डेटा को स्टोर करने का कार्य   करता है | 

CPU को जब कोई डेटा की जरूरत होती है तब CPU सबसे पहले Level 1 cache में उसे चेक करता है | यदि वो डेटा CPU को L1 Cache में मिल जाता है तो CPU बाकी के लेवल को चेक नहीं करता और उस डेटा को लेकर प्रोसेसिंग continue करता है | 

Level 2 Cache 

यह दूसरे लेवल का कैश मेमोरी है जिसे L2 cache या Level 2 cache के रूप  में जाना जाता है | Level 2 cache मेमोरी, L1 cache मेमोरी से साइज में थोड़ी बड़ी होती है और इसकी स्पीड भी L1 cache मेमोरी से थोड़ी कम होती है |

Level 2 cache मेमोरी CPU के अंदर और बाहर कहीं भी मौजूद हो सकती है यदि यह CPU के बाहर होता है तो यह एक हाई स्पीड bus के द्वारा CPU से कनेक्ट होता है | 

यदि CPU चार कोर वाला होता है तो हर CPU Core का अपना एक अलग Level 2 cache मेमोरी हो सकता है या फिर सभी एक ही Level 2 cache मेमोरी का उपयोग कर सकते है | 

यह L1 cache मेमोरी की तुलना में थोड़ी ज्यादा मात्रा में डेटा को स्टोर करती है | Level 2 cache मेमोरी की साइज 256 KB से 512 KB होती है | 

Level 3 Cache 

यह तीसरे लेवल का कैश मेमोरी है जिसे L3 cache या Level 3 cache मेमोरी के रूप  में जाना जाता है | Level 3 cache मेमोरी सभी प्रोसेसर में नहीं होता | यह कुछ high-end processors में हो सकते है | 

यह साइज में L1 cache और Level 2 cache से थोड़ी बड़ी होती है जिससे इसकी स्पीड भी L1 cache और Level 2 cache मेमोरी से थोड़ी कम होती है |

Level 3 cache मेमोरी का उपयोग L1 cache और Level 2 cache के परफॉरमेंस को बढ़ने के लिए उपयोग किये जाते है | Level 2 cache मेमोरी CPU के बाहर मौजूद होती है | 

यदि CPU चार कोर वाला होता है तो सभी CPU Core एक ही Level 3 cache मेमोरी का उपयोग करते है | यह L1 cache और Level 2 cache मेमोरी की तुलना में थोड़ी ज्यादा मात्रा में डेटा को स्टोर करता है | Level 3 cache मेमोरी की साइज 1 MB से 8 MB होती है |


कैश मेमोरी कैसे कार्य करता है? (How does cache memory work with CPU)

जब CPU को प्रोसेसिंग के टाइम किसी डेटा की जरुरत होती है तो CPU सबसे पहले उस डेटा को level 1 cache memory में ढूंढ़ता है | यदि CPU को वो डेटा level 1 cache memory में नहीं मिलता तब CPU उस डेटा को L2 cache मेमोरी में ढूंढ़ता है और यदि इसमें भी required डेटा नहीं मिलता तो CPU, उस डेटा को L3 cache मेमोरी में ढूंढ़ता है | 

यदि CPU को किसी भी एक कैश मेमोरी में वो डेटा मिल जाता है तो इसे cache hit कहते है और यदि डेटा किसी भी cache मेमोरी में नहीं मिलता तो इसे cache miss कहते है | 

यदि CPU को किसी भी cache में डेटा नहीं मिलता तो CPU उसे प्राइमरी मेमोरी में सर्च करता है और यदि वहां भी वो डेटा नहीं मिलता तो CPU सेकेंडरी मेमोरी में उस डेटा को ढूंढ़ता है | जहाँ से CPU को required डेटा मिल ही जाता है | 

जब पहली बार कंप्यूटर शुरू किया जाता है, या पहली बार कोई एप्लिकेशन खोला जाता है, तो कैश मेमोरी या रैम में डेटा उपलब्ध नहीं होता है। इस स्थिति में, सीपीयू को हार्ड डिस्क ड्राइव से सीधे डेटा मिलता है। 

एक बार कोई प्रोग्राम ओपन हो जाता है तो बाद में आप जब भी अपना कंप्यूटर शुरू करते हैं या एक एप्लिकेशन खोलते हैं, तो सीपीयू उस डेटा को कैश मेमोरी या रैम से प्राप्त कर सकता है।


कैश मेमोरी के लाभ ( Advantages of Cache Memory in Hindi )

कैश मेमोरी के Advantages कुछ इस प्रकार हैं -:

  1. प्राइमरी मेमोरी और सेकेंडरी मेमोरी की तुलना में कैश मेमोरी काफी फ़ास्ट होती है।
  2. यह सीपीयू द्वारा बार-बार उपयोग किए जाने वाले सभी डेटा और इंस्ट्रक्शंस को स्टोर करता है जिससे CPU की परफॉरमेंस में बढ़ोतरी होती है | 
  3. कैश मेमोरी का डेटा access time प्राइमरी मेमोरी से कम होती है।

कैश मेमोरी के नुकशान ( Disadvantages of Cache memory In Hindi )

कैश मेमोरी के Disadvantages कुछ इस प्रकार हैं -:

  1. यह बाकी मेमोरी ( जैसे – Primary memory और Secondary Memory ) की तुलना में काफी महंगा होता है | 
  2. इसकी स्टोरेज क्षमता काफी काम होती है |
  3. यह डेटा को अस्थाई रूप से स्टोर करता है।
  4. कंप्यूटर बंद होते ही नस्ट हो जाता है इसमें स्टोर डाटा नष्ट हो जाता है |

FAQ – Frequently Asked Questions

कंप्यूटर की सबसे तेज मेमोरी का क्या नाम है ?

Cache Memory कंप्यूटर की सबसे तेज मेमोरी है | यह एक हार्डवेयर है जो कंप्यूटर में सीपीयू के नजदीक लगी होती है |

कंप्यूटर में कैश मेमोरी का प्रमुख काम क्या है?

कैश मेमोरी एक हाई स्पीड सेमीकंडक्टर कंप्यूटर मेमोरी है जिसका उपयोग CPU की स्पीड तथा परफॉरमेंस को बढ़ने के लिए किया जाता है | इसका उपयोग डेटा और प्रोग्राम के उन हिस्सों को रखने के लिए किया जाता है जो सीपीयू द्वारा सबसे ज्यादा बार उपयोग किए जाते हैं |

क्या कैश मेमोरी कंप्यूटर की सबसे तेज मेमोरी है?

हाँ, कैश मेमोरी कंप्यूटर की सबसे तेज मेमोरी है | Cache Memory, सीपीयू के मुख्य मेमोरी से डेटा एक्सेस टाइम को कम करता है। जिससे CPU की Performance काफी बढ़ जाती है |

कैश मेमोरी कंप्यूटर की सबसे तेज मेमोरी क्यों कहा जाता है?

कैश मेमोरी कंप्यूटर की सबसे तेज मेमोरी इसलिए कहा जाता है क्योकि यह काफी फ़ास्ट होती है. Cache Memory की साइज बाकि मेमोरी की तुलना में काफी कम होती है जिससे डेटा को खोजने में लगने वाला समय भी कम होता है | CPU, कैश मेमोरी से आवश्यक डेटा को आसानी से प्राप्त कर लेता है.

इन्हे भी पढ़े -:


निष्कर्ष

दोस्तों आशा करता हु कि आज के इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको कैश मेमोरी क्या है? ( What is Cache Memory In Hindi ) और कैश मेमोरी कितने प्रकार के होते है? (Types of Cache Memory In Hindi ) से संबंधित सभी जानकारी मिल गई होगी और आपको और कही इसके बारे में सर्च करना नहीं पड़ेगा |

अगर आप कंप्यूटर फंडामेंटल Complete Tutorial चाहते है तो मेरे इस आर्टिकल Computer Fundamental Tutorial In Hindi को देखे | यहाँ आपको कंप्यूटर फंडामेंटल्स के सभी टॉपिक्स step by step मिल जाएगी |

दोस्तों आशा करता हु कि आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी और आपको Cache Memory Kya Hai ? के बारे में काफी जानकरी हुई होगी |

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया है तो इस पोस्ट को अपने अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी ये जानकारी प्राप्त हो सके |

अगर आपको अभी भी Cache Memory In Hindi से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप जरूर बताये मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

एसी ही नया टेक्नोलॉजी , Computer science से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी |

Thank you आपका दिन मंगलमय हो |

पढ़ते रहिए और बढ़ते रहिए | Keep Reading and Keep Growing

Jeetu Sahu is A Web Developer | Computer Engineer | Passionate about Coding, Competitive Programming and Blogging

Leave a Comment