|

मैक एड्रेस क्या है? – MAC Address In Hindi (सम्पूर्ण जानकारी )

इंटरनेट पर प्रत्येक कंप्यूटर या डिवाइस के दो प्रकार के addresses होते हैं: पहला फिजिकल एड्रेस और दूसरा लॉजिकल एड्रेस। 

फिजिकल एड्रेस को MAC address के रूप से जाना जाता है और लॉजिकल एड्रेस को IP Address के रूप में जाना जाता है।  

फिजिकल एड्रेस अर्थात मैक एड्रेस लोकल नेटवर्क में एक डिवाइस की पहचान करता है और आईपी एड्रेस विश्व स्तर पर डिवाइस की पहचान करता है। 

एक नेटवर्क पैकेट को अपने गंतव्य अर्थात सेन्डर से रिसीवर तक पहुंचने के लिए दोनों ही addresses की आवश्यकता होती है।

आज के इस आर्टिकल में हम MAC address के बारे में बात करने वाले है। आईपी एड्रेस के बारे में हमने अपने पिछले आर्टिकल में बात की थी  जिसके बारे में आप निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते है?

  • आईपी एड्रेस क्या है? सम्पूर्ण जानकारी

तो आइये अब बिना समय गवाए विस्तार से जानते है कि MAC address क्या है? (What is MAC Address In Hindi)

मैक एड्रेस क्या है? (What is MAC Address In Hindi)

मैक एड्रेस क्या है? (What is MAC Address In Hindi)

MAC address एक फिजिकल एड्रेस है जो नेटवर्क पर प्रत्येक डिवाइस को विशिष्ट रूप से पहचानने के लिए उपयोग किया जाता है। मैक एड्रेस का फुल फॉर्म Media Access Control Address होता है। 

MAC address, हर नेटवर्क इंटरफेस कार्ड (NIC) में मौजूद होता है और इसे बदला नहीं जा सकता।

चूंकि नेटवर्क में लाखों डिवाइस मौजूद हैं, और प्रत्येक डिवाइस के लिए एक Unique MAC address होना आवश्यक है, इसलिए मैक एड्रेस छह दो-अंकीय हेक्साडेसिमल संख्याओं से बने होते हैं, जिन्हें कोलन द्वारा अलग किया जाता है। 

इन्हे याद रखने की आवश्यकता नहीं होती, क्योंकि यह अधिकांश नेटवर्क द्वारा automatically पहचान लिया जाता है।

MAC एड्रेस, OSI model के Data link layer पर कार्य करता है। यह एक 48 या 64-बिट एड्रेस होता है जो नेटवर्क एडॉप्टर से जुड़ा होता है। 

MAC Address नेटवर्क एडेप्टर के हार्डवेयर से जुड़े होते हैं, इसलिए उन्हें “Hardware Address” या “Physical Address” के रूप में भी जाना जाता है। यह विशेष रूप से लोकल एरिया नेटवर्क पर एडेप्टर की पहचान करता हैं।

मैक एड्रेस, हेक्साडेसिमल नोटेशन में व्यक्त किए जाते हैं। उदाहरण के लिए, 48-बिट एड्रेस में “01-23-45-67-89-AB” या 64-बिट एड्रेस में “01-23-45-67-89-AB-CD-EF”। 

कभी-कभी, डैश (-) के बजाय कोलन (:) का उपयोग किया जाता है। मैक एड्रेस को अक्सर स्थायी माना जाता है, लेकिन कुछ स्थितियों में, उन्हें बदला जा सकता है।

Summary

  • MAC address को फिजिकल एड्रेस, हार्डवेयर एड्रेस और बर्न-इन एड्रेस के रूप में भी जाना जाता है।
  • MAC addresses आम तौर पर नेटवर्क इंटरफेस कार्ड (NIC) के निर्माता द्वारा assigne किया जाता हैं। 
  • मैक एड्रेस हेक्साडेसिमल नोटेशन में व्यक्त किए जाते हैं। यह एक 48 या 64-बिट एड्रेस होता है
  • इसमें पहला 24 बिट्स ऑर्गनाइजेशन यूनिक आइडेंटिफ़ायर के लिए उपयोग किया जाता हैं, और 24 बिट्स NIC निर्माता के लिए होता हैं।
  • MAC address स्थायी होते हैं इन्हें बदला नहीं जा सकता। 
  • दो उपकरणों में एक ही मैक एड्रेस नहीं हो सकता है। यदि ऐसा होता है, तो दोनों उपकरणों में संचार समस्याएँ होंगी क्योंकि लोकल नेटवर्क भ्रमित हो जाएगा कि किस उपकरण को पैकेट प्राप्त करना चाहिए। 
  • IEEE द्वारा प्रदान किए गए specifications का उपयोग करके मैक पता बनाया जाता है।
  • यह OSI मॉडल के Data Link Layer पर कार्य करता है।
  • यह निर्माण के समय डिवाइस निर्माता द्वारा प्रदान किया जाता है और इसके NIC में Embedded होता है।
  • ARP protocol का उपयोग लॉजिकल एड्रेस को मैक एड्रेस  से जोड़ने के लिए किया जाता है।

मैक एड्रेस के प्रकार – Types of MAC Address In Hindi

मैक एड्रेस तीन प्रकार के होते हैं -:

  1. यूनिकास्ट मैक एड्रेस
  2. मल्टीकास्ट मैक एड्रेस
  3. ब्रॉडकास्ट मैक एड्रेस

1) यूनिकास्ट मैक एड्रेस (Unicast MAC address)

यूनिकास्ट मैक एड्रेस नेटवर्क पर स्पेसिफिक NIC को रिप्रेजेंट करता है। सोर्स मशीन का मैक एड्रेस हमेशा यूनिकास्ट होता है।

2) मल्टीकास्ट मैक एड्रेस (Multicast MAC Address)

मल्टीकास्ट एड्रेस सोर्स डिवाइस को डेटा फ्रेम को कई डिवाइस या NIC में ट्रांसमिट करने में सक्षम बनाता है। लेयर -2 (ईथरनेट) मल्टीकास्ट एड्रेस में, LSB (least significant bit) के पहले ऑक्टेट के पहले 3 बाइट्स को एक पर सेट किया जाता है और मल्टीकास्ट एड्रेस के लिए आरक्षित किया जाता है। बाकी 24 बिट का उपयोग उस डिवाइस द्वारा किया जाता है जो एक ग्रुप में डेटा भेजना चाहता है।

3) ब्रॉडकास्ट मैक एड्रेस (Broadcast MAC Address)

यह एक नेटवर्क के भीतर सभी उपकरणों का प्रतिनिधित्व करता है। ब्रॉडकास्ट मैक एड्रेस में, डेस्टिनेशन एड्रेस के सभी बिट्स (FF-FF-FF-FF-FF-FF) वाले ईथरनेट फ्रेम को ब्रॉडकास्ट एड्रेस के रूप में जाना जाता है। 

यदि कोई स्रोत उपकरण नेटवर्क के भीतर सभी उपकरणों को डेटा भेजना चाहता है, तो वह ब्रॉडकास्ट एड्रेस को destination मैक पते के रूप में उपयोग कर सकता है।

Format of MAC Address 

MAC एड्रेस एक 12-अंकीय हेक्साडेसिमल संख्या (6-बाइट बाइनरी नंबर) है, जिसे ज्यादातर कोलन-हेक्साडेसिमल नोटेशन द्वारा दर्शाया जाता है। MAC एड्रेस का पहला 6-अंक (जैसे 00:40:96) निर्माता की पहचान करता है, जिसे OUI (Organizational Unique Identifier) कहा जाता है। IEEE, Registration Authorization Committee इन मैक उपसर्गों को अपने registered vendors को सौंपती है।

यहाँ प्रसिद्ध manufacturers के कुछ OUI हैं:

  • CC:46:D6 – Cisco
  • “00-14-22” – Dell
  • 3c:5a:b4 – Google, Inc.
  • 3C:D9:2B – Hewlett Packard
  • 00:9A:CD – Huawei Technologies Co.,Ltd

सबसे दाहिने छह अंक नेटवर्क इंटरफेस कंट्रोलर को रिप्रेजेंट करते हैं, जिसे निर्माता द्वारा सौंपा गया है।

मैक एड्रेस क्या है? - MAC Address In Hindi (सम्पूर्ण जानकारी )

मैक एड्रेस का उपयोग क्यों किया जाता है?

मैक एड्रेस एक यूनिक नंबर होता है जिसका इस्तेमाल नेटवर्क में डिवाइस को ट्रैक करने के लिए किया जाता है। मैक एड्रेस नेटवर्क में सेंडर्स या रिसीवर्स को खोजने का एक सुरक्षित तरीका प्रदान करता है और unwanted नेटवर्क एक्सेस को रोकने में मदद करता है। मैक एड्रेस का उपयोग एयरपोर्ट पर वाई-फाई नेटवर्क में किसी विशिष्ट डिवाइस की पहचान करने के लिए भी किया जाता है।

मैक एड्रेस कैसे पता करें? (How to Find MAC Address In Hindi)

हम किसी भी कंप्यूटर डिवाइस का मैक एड्रेस आसानी से ढूंढ या चेक कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने कंप्यूटर के कमांड प्रॉम्प्ट को ओपन करना होगा जिसे आप निचे दिए गए स्टेप को फॉलो करके कर सकते है।   

MAC address on Windows

विंडो OS पर किसी डिवाइस के MAC एड्रेस खोजने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें।

  • विंडो स्टार्ट पर क्लिक करें या विंडोज की दबाएं।
  • दिए गए सर्च बॉक्स में Command Prompt खोलने के लिए cmd टाइप करें।
  • एंटर key दबाएं, और फिर आपको कमांड प्रॉम्प्ट विंडो प्रदर्शित होगी इसके बाद आपको निचे दिए गए कमांड को उसमे टाइप कीजिये।
  • ipconfig/all 
  • ऊपर दिए गए कमांड को टाइप करने के बाद अब एंटर key दबाइये 
  • यह अलग-अलग इनफार्मेशन प्रदर्शित करेगा, नीचे स्क्रॉल करें और फिजिकल एड्रेस की तलाश करें। यह फिजिकल एड्रेस ही आपके डिवाइस का मैक एड्रेस है।
मैक एड्रेस क्या है? - MAC Address In Hindi (सम्पूर्ण जानकारी )

जैसा कि हम ऊपर की इमेजमें देख सकते हैं, अलग-अलग मूल्यों के साथ दो फिजिकल एड्रेस दिखाए गए हैं, एक ईथरनेट एडेप्टर के लिए है, और दूसरा VMware नेटवर्क एडेप्टर के लिए है।

Macintosh OS पर MAC एड्रेस पता करना 

Macintosh OS पर MAC पता खोजने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें:

  • Apple मेनू खोलें, और System Preferences पर क्लिक करें।
  • System Preferences. के तहत → नेटवर्क चुनें →
  • उपरोक्त पथ एक नेटवर्क बॉक्स खोलेगा।
  • यहां से वाई-फाई का विकल्प चुनें। यह वाई-फाई एड्रेस या एयरपोर्ट एड्रेस डिस्प्ले दिखाएगा; यह आपके डिवाइस का MAC address है।

मैक एड्रेस और आईपी एड्रेस के बीच अंतर (Difference between MAC address and IP address In Hindi)

  • MAC address का मतलब Media Access Control Address होता है। जबकि IP एड्रेस का मतलब Internet Protocol address होता है।
  • MAC एड्रेस 48-बिट एड्रेस होता है जबकि IP एड्रेस में 32-बिट एड्रेस होता है।
  • MAC एड्रेस OSI मॉडल के डाटा लिंक लेयर पर काम करता है जबकि IP एड्रेस OSI मॉडल के नेटवर्क लेयर पर काम करता है।
  • MAC एड्रेस को फिजिकल एड्रेस  कहा जाता है जबकि IP एड्रेस को लॉजिकल एड्रेस कहा जाता है। 
  • मैक एड्रेस में Classes का उपयोग नहीं किया जाता जबकि IP में, IPv4 A, B, C, D और E Classes का उपयोग करता है।
  • मैक एड्रेस निर्माता द्वारा प्रदान किया गया unique एड्रेस है जबकि IP एड्रेस, ISP द्वारा प्रदान किया जाता है।

Conclusion

दोस्तों आज के इस आर्टिल्स में हमने MAC address के बारे में बात की और जाना कि मैक एड्रेस क्या है? (What is MAC address In Hindi) MAC address कैसे कार्य करता है?

तो दोस्तों आशा करता हूँ कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और यदि ये आर्टिकल आपको पसंद आया है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी MAC address Kya Hai के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके .

अगर आपको अभी भी MAC address In Hindi से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप कमेंट्स के जरिए हमसे पुछ सकते है। मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

ऐसे ही टेक्नोलॉजी, Computer Science, नेटवर्किंग से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *