| | | |

Web Designing Kya Hai? एक अच्छा वेब डिज़ाइन कैसे बने?

Web Designing Kya Hai? -: वेबसाइट डिज़ाइन करने की प्रक्रिया वेब डिजाइनिंग कहलाती है वेब डिजाइनिंग में वेबसाइट के लेआउट से लेकर कांटेक्ट पेज, ग्राफ़िक डिज़ाइन आदि सब कुछ डिजाइन किया जाता है। 

वेब डिजाइनिंग में HTML और CSS का उपयोग किया जाता है। HTML का उपयोग वेबसाइट का स्ट्रक्चर डिज़ाइन करने के लिए किया जाता है और  CSS का उपयोग वेबसाइट को आकर्षक बनाने के लिए किया जाता है। 

वेब डिजाइनिंग, वेबसाइट को अधिक आकर्षक और उपयोग में आसान बनाने के उद्देश्य से किया जाता है। 

तो दोस्तों यह थी Web Designing की एक बेसिक सी जानकारी, यदि आप इसके बारे में Detail में जानना चाहते है तो आप इस आर्टिकल को आगे पढ़ते रहे क्योकि आज के इस आर्टिकल में हम विस्तार से जानेंगे कि Web Designing Kya Hai? एक अच्छा Web designer कैसे बने? Web designer की सैलरी कितनी होती हैं? और Web designing के लिए कौन कौन से स्किल की आवश्कयता होती है?

तो आइये अब बिना समय गवाए जानते है कि वेब डिजाइनिंग क्या है? (What is Web Designing In Hindi)

Web Designing Kya Hai? एक अच्छा वेब डिज़ाइन कैसे बने?

वेब डिजाइनिंग क्या हैं? (What is Web Designing In Hindi)

अगर आसान भाषा में कहा जाए तो वेबसाइट डिजाइन करने के प्रक्रिया को ही वेब डिजाइनिंग या वेबसाइट डिजाइनिंग कहा जाता है इसमें आपको वेबसाइट के होम पेज से लेकर उसके कांटेक्ट पेज, लेआउट, ग्राफ़िक डिज़ाइन आदि सब कुछ डिजाइन करना होता है और जो व्यक्ति इन सभी कार्यों को करता है उसे वेब डिजाइनर या वेबसाइट डिज़ाइनर  कहा जाता है। इसके साथ ही एक Web Designer वेबसाइट को ज्यादा से ज्यादा आकर्षित बनाने की कोशिश करता है ताकि viewer वेबसाइट को बार-बार विजिट करें।

वेब डिजाइनर बनने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इस फील्ड में आप सरकारी और प्राइवेट सभी सेक्टर में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं क्योंकि आज के समय में छोटी से छोटी कंपनियों की भी वेबसाइट होती है और अपनी वेबसाइट को मैनेज करने के लिए उन्हें वेब डिजाइनर की आवश्यकता होती है। तो ऐसे में वेब डिजाइनिंग आपके लिए एक अच्छा करियर ऑप्शन हो सकता है। 

वेब डिजाइनर कैसे बने? (How To Become Web Designer In Hindi)

एक web designer बनना कोई मुश्किल काम नहीं है आप चाहे तो ऑनलाइन या ऑफलाइन कोर्स के माध्यम से एक वेब डिज़ाइनर बन सकते हैं । 

यहाँ हम आपको दोनों तरीकों (ऑनलाइन या ऑफलाइन कोर्स) के बारे में ही बताने वाले हैं ताकि आप अपने समय के हिसाब से तय कर सके कि आपको ऑफलाइन या ऑनलाइन, कौन से माध्यम से वेब डिजाइनर का कोर्स करना है।

1) ऑनलाइन वेब डिजाइनिंग कोर्स (Online Web Designing Courses)

इंटरनेट पर बहुत सी ऐसी वेबसाइट मौजूद है जिन पर आप वेब डिजाइनिंग का कोर्स कर सकते हैं। इंटरनेट पर आपको फ्री और पेड दोनों ही तरह से वेब डिजाइनिंग के कोर्स मिल जाएंगे, लेकिन ऑनलाइन कोर्स को लेकर कई लोगों के मन में यह सवाल रहता है कि उन्हें किस वेबसाइट या इंस्टिट्यूट के माध्यम से इन कोर्स को करना चाहिए। तो मैं आपको कुल तीन वेबसाइट के नाम बताने वाला हूं, जो ऑनलाइन कोर्स के लिए काफी ज्यादा पॉपुलर है जैसे-

2) ऑफलाइन वेब डिजाइनिंग कोर्स (Ofline Web Designing Courses)

अगर आप ऑफलाइन वेब डिजाइनिंग का कोर्स करना चाहते हैं तो यह कोर्स आपको 3 तरह से प्रोवाइड किया जाता है जिसमें डिग्री, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स शामिल है आप इनमें से किसी भी कोर्स को करके वेब डिजाइनर बन सकते हैं लेकिन इन कोर्स को करने के लिए आपका 10वीं या 12वीं में pass होना जरूरी है।

1) Diploma course 

वेब डिजाइनिंग के डिप्लोमा कोर्स की अवधि 1 से 2 साल के बीच में होती है और डिप्लोमा कोर्स को करने के लिए आपका कम से कम 10 वीं पास होना बेहद जरूरी है इसमें आपको वेबसाइट को डिजाइन करने से जुड़े सभी प्रकार के टूल्स, कोडिंग लैंग्वेज आदि के बारे में सिखाया जाता है। 

इस कोर्स की अवधि 1 से 2 साल के बीच होने के कारण इसमें आपको सभी चीजों को काफी जल्दी सिखाया जाता है। अब हम इंडिया में करवाए जाने वाले कुछ टॉप के डिप्लोमा कोर्स के बारे में जानते हैं ताकि आप यह डिसाइड कर सके कि आपको इनमें से कौन से कोर्स को करना है।

  • Diploma in Web Designing
  • Diploma in Web Designing & Software Development
  • Diploma Course in Multimedia & Web Designing
  • Advanced Diploma in Web Designing
  • Advanced Diploma in Office Automation & Web Designing
  • Advanced Diploma in Multimedia & Web Designing
  • Advanced Diploma in Internet & Web Designing
  • Post Graduate Diploma in Web Designing

2) Certificate course

अधिकांश लोग अपने करियर की शुरुआत सर्टिफिकेट कोर्स को करने से ही करते हैं क्योंकि इस कोर्स को कई सारे छोटे इंस्टिट्यूट के माध्यम से भी करवाया जाता है और इस कोर्स को करने के बाद आप किसी कंपनी में सर्टिफिकेट दिखाकर job भी प्राप्त कर सकते हैं या फिर freelancer के रूप में भी काम कर सकते हैं। 

इन कोर्स की समय सीमा 18 महीने से लेकर 2 साल के बीच में होती है और इन कोर्स को करने के लिए आपका 10 वीं पास होना जरूरी है लेकिन कुछ इंस्टिट्यूट बिना किसी qualification के भी आपको सर्टिफिकेट कोर्स करवा देते हैं चलिए अब इन courses के बारे में भी जान लेते हैं। 

  • Certificate course in Application Software & Web Designing
  • Certificate Course in Office Automation & Web Designing
  • Certificate Course in Multimedia Web Designing
  • Certificate Course in Web Designing
  • Certificate Course in Internet & Web Designing

3) Degree course

इस कोर्स को अधिकतर ऑफलाइन कॉलेजेस के माध्यम से ही किया जाता है और इस कोर्स की समय अवधि 3 साल की होती है इसमें आपको सभी टॉपिक्स को डिटेल में समझाया जाता है। 

वेब डिजाइनिंग के डिग्री कोर्स को बैचलर कोर्स के नाम से भी जाना जाता है इस कोर्स को करने के लिए आपका किसी भी फील्ड से 12वीं पास होना जरूरी है इंडिया में कुछ कोर्स है जो सबसे अधिक किए जाते हैं जैसे

  • B.Sc in Multimedia and Web Design
  • B.Sc in Web Design 
  • B.Sc in Graphic and Web Design 
  • M.Sc in E-commerce & Web Design

ऐसा जरूरी नहीं है कि आपको इन सभी कोर्स को किसी कॉलेज के माध्यम से ही करना है आज के समय में आप इंटरनेट के माध्यम से भी वेब डिजाइनिंग के सभी कोर्स को कर सकते हैं और कुछ लोग ऐसे भी हैं जो बिना डिग्री के वेब डिजाइनिंग की फील्ड में अपना करियर बनाए बैठे हैं और काफी अच्छा प्रदर्शन भी कर रहे हैं। 

इस तरह की फील्ड में आपके सर्टिफिकेट की जगह आपकी स्किल्स को ज्यादा अहमियत दी जाती है। अगर आपके पास सर्टिफिकेट नहीं है लेकिन आपके पास स्किल है तब भी आप ऑनलाइन एक वेब डिजाइनिंग का काम कर सकते हैं।

Web designer Job Type

एक वेब डिजाइनर कई तरह की jobs प्राप्त कर सकता है और यह सभी जॉब्स वेबसाइट से रिलेटेड ही होती है लेकिन इन जॉब टाइप में आप वेब डिजाइनिंग से जुड़े किसी एक प्रोसेस में एक्सपर्ट होते हैं और आपको केवल उसी क्षेत्र पर काम करना पड़ता है

एक वेब डिजाइनर कई तरह की जॉब प्राप्त कर सकता है जैसे -:

  • Front-end web development
  • Back-end web development
  • Full-stack web development
  • Web programmer
  • Content developer
  • Webmaster
  • Web Analyst
  • WordPress or Shopify Developer
  • UX Designer/Developer
  • Technical Consultant

वेब डिजाइनर की सैलरी कितनी होती हैं?

इस फील्ड में आपकी सैलरी कभी भी तय नहीं होती है क्योंकि वेब डिज़ाइनर की सैलरी कई सारी चीजों पर निर्भर करती है जिसमें आपका इंस्टिट्यूट, आपके नॉलेज, आपका एक्सपीरियंस और आप किस कंपनी में जॉब कर रहे हैं आदि। 

एक शुरुआती वेब डिजाइनर की सैलरी 20 से 30 हजार रुपए प्रति माह तक हो सकती है और जैसे-जैसे आपका एक्सपीरियंस बढ़ता जाएगा, वैसे वैसे आपकी सैलरी भी बढ़ती जाएगी। 

एक एक्सपर्ट वेब डिजाइनर की सैलरी 2 लाख रुपए प्रति माह तक हो सकती है लेकिन इस मुकाम तक पहुंचने के लिए आपको काफी ज्यादा अनुभव की जरूरत पड़ेगी और यह अनुभव समय के साथ ही आता है।

वेब डिजाइनिंग के लिए स्किल (Required Skill For Web Designing In Hindi)

एक बेहतरीन वेब डिज़ाइनर बनने के लिए कुछ स्किल का होना बेहद जरूरी होता है ताकि आप भविष्य में इस फील्ड में नाम कमा सकें, चलिए अब इसके इसके बारे में जानते हैं 

1) Creativity का होना

एक वेब डिज़ाइनर के अंदर क्रिएटिविटी का होना बेहद जरूरी होता है क्योंकि इन्हें हर समय अपने क्लाइंट के लिए अलग-अलग वेबसाइट बनानी होती है और इनकी हर वेबसाइट यूनिक होनी चाहिए। जिसके लिए क्रिएटिविटी का होना बेहद जरूरी है 

आप वेबसाइट को तैयार करने के लिए किसी दूसरी वेबसाइट से इंस्पिरेशन ले सकते हैं लेकिन उससे मिलता-जुलता या फिर कॉपी करके वेब डिजाइन नहीं कर सकते। इससे आपकी वेबसाइट पर कॉपीराइट आने की संभावना बढ़ जाती है इसलिए हमेशा आपको वेबसाइट को डिजाइन करते समय अपनी क्रिएटिविटी और imagination का इस्तेमाल करना चाहिए, जो इस फील्ड में बेहद अहम हैं।

2) Tools के बारे में ज्ञान होना चाहिए

एक वेब डिज़ाइनर जब भी किसी वेबसाइट को डिज़ाइन करता है तो उसे कई प्रकार के टूल्स का इस्तेमाल करना पड़ता है। इन सभी टूल्स को वेब डिज़ाइनर अपनी पसंद के हिसाब से चुनता हैं। लेकिन कुछ टूल्स इस फील्ड में काफी ज्यादा पॉपुलर है जिनका इस्तेमाल हर वेब डिजाइनर के द्वारा किया जाता है जैसे- mockup, dreamweaver, photoshop आदि। 

3) Coding का ज्ञान होना चाहिए

आज के समय में अधिकतर लोग बिना कोडिंग का ज्ञान लिए ही एक वेब डिजाइनर बनने की कोशिश करते हैं और वह केवल वर्डप्रेस और प्लगिन्स का इस्तेमाल करके वेबसाइट को डिजाइन करने की कोशिश करते हैं जो एक begginer के लिए तो ठीक है लेकिन जब आप बड़े पैमाने पर और एक एक्सपर्ट वेब डिजाइनर के रूप में काम करते हैं तो यह तरीका काम नहीं आता है। 

अगर आप एक एक्सपर्ट वेब डिजाइनर कहलाना चाहते हैं तो आपको कोडिंग का ज्ञान होना जरूरी है क्योंकि जब आप एक वेबसाइट को हाई लेवल पर डिजाइन करते हैं तो उसके लिए आपको कोडिंग का आना जरूरी है क्योंकि एक वेबसाइट में बहुत सी ऐसी चीजें होती है जिन्हें प्लगिंस के द्वारा नहीं किया जा सकता है 

वेबसाइट को डिजाइन करने के लिए आपको html, CSS और java script कोडिंग लैंग्वेज को सीखना पड़ेगा।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस आर्टिल्स में हमने Web Designing or Website Designing के बारे में बात की और जाना कि वेब डिजाइनिंग क्या है? (What is Web Designing In Hindi) एक अच्छाWeb Designer Kaise bane? (How To Become Web Designer In Hindi) और Web designing के लिए कौन कौन से स्किल की आवश्कयता होती है?

अगर आप वेब डेवलपमेंट, कंप्यूटर नेटवर्किंग का Complete Tutorial चाहते है तो मेरे इस आर्टिकल Computer Network Tutorial In Hindi को देखे | यहाँ आपको वेब डेवलपमेंट, कंप्यूटर नेटवर्किंग के सभी टॉपिक्स step by step मिल जाएगी |

तो दोस्तों आशा करता हूँ कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और यदि ये आर्टिकल आपको पसंद आया है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी Web Designing Kya Hai के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके .

अगर आपको अभी भी Web Designing In Hindi से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप कमेंट्स के जरिए हमसे पुछ सकते है। मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

ऐसे ही नया टेक्नोलॉजी ,Computer Science, इंटरनेट, नेटवर्किंग, Web Delopment से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published.