|

Logic Gates क्या है? लॉजिक गेट कितने प्रकार के होते है?

लॉजिक गेट एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होता है जो की किसी इलेक्ट्रिक सर्किट में बहने वाले डिजिटल सिग्नल्स को कंट्रोल करता है।  यह डिजिटल सिग्नल्स से बाइनरी इनपुटस (0  और  1) लेता है और फिर हमें लॉजिक ऑपरेशन लगाने के बाद बाइनरी आउट्पुटस देता है। 

Logic gates डिजिटल सिग्नल से मिले 1 या 1 से अधिक बाइनरी इनपुटस पर लॉजिक ऑपरेशन लगाता है और फिर हमें एक single binary आउट्पुट देता है। लॉजिक गेट्स की वजह से ही इलेक्ट्रिक लॉजिक ऑपरेशन संभव हो पाते है। 

तो दोस्तों यह थी लॉजिक गेट की एक बेसिक सी जानकारी, यदि आप इसके बारे में Detail में जानना चाहते है तो आप इस आर्टिकल को आगे पढ़ते रहे क्योकि आज के इस आर्टिकल में हम विस्तार से जानेंगे कि लॉजिक गेट क्या है? (What is Logic Gate In Hindi) और लॉजिक गेट कितने प्रकार होते है? (Types of Logic Gates In Hindi)

तो आइये अब बिना समय गवाए विस्तार से जानते है कि Logic Gate Kya Hai?

Logic Gates क्या है? लॉजिक गेट कितने प्रकार के होते है?

लॉजिक गेट क्या है? (What is Logic Gates In Hindi)

Logic Gates ऐसे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होते है जिन्हे डिजिटल सर्किटस में लगाया जाता है, Logic Gates डिजिटल सर्किट का एक मुख्य भाग होता है। इन लॉजिक गेट्स में कुछ Inputs होते है और एक Output होता है, आमतौर पर इनपुटस की संख्या 1 या 2 ही होती है।

इन इनपुटस की मदद से सर्किट के अंदर आए डिजिटल सिग्नल को एक्सेस किया जाता है और फिर यह लॉजिक गेट्स इन इनपुट्स पर लॉजिक ऑपरेशन लगा कर हमें एक आउट्पुट देते है,

इन इनपुटस पर क्या लॉजिक ऑपरेशन लगेगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि किस लॉजिक गेट को प्रयोग किया गया है, 

इन इनपुटस पर अलग अलग लॉजिक गेट्स में अलग लॉजिक ऑपरेशन लगते है, जिस से एक ही तरह के इनपुटस होने के बावजूद भी हर लॉजिक गेट में हमें नए आउट्पुटस देखने को मिलते है।

Logic Gates को माइक्रोप्रोसेसरस और microcontrollers में प्रयोग किया जाता है |

Logic Gates को इसलिए प्रयोग किया जाता है ताकि कंप्युटर बड़ी और कठिन कैल्क्यलैशनस को आसानी से कर सके। 

चूंकि कंप्युटर इंसानी भाषा को नहीं समझता और केवल 0 और 1 इन दो codes को ही समझता है और इनके आधार पर ही कैलकुलेशन करता है, तो लॉजिक गेट्स कंप्युटर को इन 0 और 1 को उसकी जरूरत के आधार पर बदलने में मदद करता है, जिससे की वह कठिन से कठिन कैलकुलेशन को भी आसानी से कर पाए। 

लॉजिक गेट कितने प्रकार के होते है? (Types of Logic Gates In Hindi)

लॉजिक गेट्स मुख्य रूप से 7 प्रकार के होते है -:

  • OR Gate
  • AND Gate
  • NOT Gate
  • NOR Gate
  • NAND Gate
  • XOR Gate
  • XNOR Gate

आइये इन लॉजिक गेट्स के बारे में एक एक करके जानते है

OR Gate Kya Hai ?

इस लॉजिक सर्किट में 2 इनपुट्स होते है और एक आउट्पुट होता है, OR Gate का सिम्बल कुछ इस प्रकार का होता है -: 

OR Gate

आमतौर पर इनपुटस को A और B से और आउट्पुट को Y से रेप्रिज़ेन्ट किया जाता है, जैसा की आप इसके सिम्बल से समझ पा रहे होंगे कि OR gate में 2 इनपुट्स है, तो इन 2 इनपुटस की वजह से इस सर्किट में 4 तरीके के केस या फिर सिचूऐशनस बन सकती है -:

  • पहला की दोनों इनपुटस A और B इन दोनों में ही किसी प्रकार का इनपुट ना रहे यानि की किसी प्रकार का कोई सिग्नल ना रहे,
  • दूसरा केस यह हो सकता है कि इनपुट A में तो सिग्नल हो, लेकिन इनपुट B में किसी प्रकार का कोई सिग्नल ना हो,
  • तीसरा केस हो सकता है कि इनपुट B में सिग्नल हो, लेकिन इनपुट A में कोई सिग्नल ना हो,
  • और चौथा केस यह हो सकता है कि इनपुट A में भी सिग्नल हो और इनपुट B में भी सिग्नल हो, यानि की दोनों इनपुटस में ही सिग्नल हो। 

तो OR गेट में यह 4 केस संभव है, इन चारों cases में हमें जो आउट्पुटस मिलते है, उन्हे हम आगे देखेंगे,

लेकिन उससे पहले यह जान लेना जरूरी है कि डिजिटल सर्किट में जब भी सिग्नल होता है तो उसे 1 से रेप्रिज़ेन्ट किया जाता है, यानि यदि किसी इनपुट में या फिर आउट्पुट में सिग्नल है तो हम उसे 1 लिख कर रेप्रिज़ेन्ट कर सकते है,

इसी के साथ यदि सर्किट में किसी इनपुट या आउट्पुट में सिग्नल नहीं है तो उसे 0 से रेप्रिज़ेन्ट किया जाता है। 

इन्ही 0 और 1 की मदद से इन लॉजिक गेट्स में अलग इनपुट cases में क्या आउट्पुट आता है, उसे एक टेबल की मदद से रेप्रिज़ेन्ट किया जाता है, उस टेबल को Truth Table कहा जाता है । 

OR Gate में इनपुटस के आधार पर 4 संभव cases हो सकते है तो इसका truth table कुछ इस प्रकार का होगा -:

Truth Table of OR Gate

ABY
000
011
101
111

इसमें सभी cases के Outputs को अच्छे से दिखाया गया है, जैसे की पहले केस में इनपुट A और B दोनों 0 है यानि की इसमें इनपुट में कोई सिग्नल नहीं है और इसमें आउट्पुट को भी 0 से रेप्रिज़ेन्ट किया गया है जिसका मतलब है कि इसमें हमें आउट्पुट में भी कोई सिग्नल नहीं मिलेगा, 

अगले केस में इनपुट A, 0 है यानि की इसमें कोई सिग्नल नहीं और वहीं इनपुट B और आउट्पुट Y को 1 से दिखाया गया है, जिसका अर्थ है कि इनपुट B में सिग्नल है और लॉजिक ऑपरेशन लगने के बाद हमें आउट्पुट में भी सिग्नल देखने को मिलेगा,

इसी प्रकार से बाकी cases को भी दर्शाया गया है। 

AND Gate Kya Hai ?

इस लॉजिक सर्किट में भी 2 Inputs होते है और एक आउट्पुट होता है, AND Gate का सिम्बल कुछ इस प्रकार का होता है -:

AND Gate

2 Inputs होने के कारण इसमें भी हमें वही 4 केस देखने को मिलते है जो की हमें OR GATE में देखने को मिले थे, लेकिन इसमें आउट्पुटस OR GATE से अलग देखने को मिलते है, जो की आप इसका truth table देख कर समझ सकते है -:

ABY
000
010
100
111

इस truth table की मदद से आप समझ पा रहे होंगे कि AND GATE में आउट्पुट में केवल तभी सिग्नल देखने को मिलता है, जब दोनों इनपुटस में भी सिग्नल हो, उसके अलावा हर एक केस में हमें कोई आउट्पुट देखने को नहीं मिलता। 

NOT Gate Kya Hai ?

यह GATE बाकी गेट्स से बेसिक structure में अलग होता है, इस लॉजिक सर्किट में आउट्पुट तो एक ही होता है, लेकिन इस लॉजिक सर्किट में इनपुट भी केवल 1 ही होता है, NOT GATE का सिम्बल कुछ इस प्रकार होता है -:

NOT Gate

केवल एक इनपुट होने की वजह से, NOT GATE में केवल 2 प्रकार के ही cases हो सकते है -:

  • पहला इनपुट A में कोई डिजिटल सिग्नल नहीं है,
  • और दूसरा इनपुट A में कोई डिजिटल सिग्नल है। 

इन cases में हमें क्या आउट्पुट देखने को मिलता है वह आप इस लॉजिक gate के truth table को देख कर समझ सकते हो -:

AY
01
10

यह logic gate इसमें आने वाले इनपुट को उल्टा कर देता है, जैसे कि यदि इनपुट में सिग्नल है तो आउट्पुट में सिग्नल नहीं होगा और यदि इनपुट में सिग्नल नही है तो आउट्पुट में सिग्नल होगा। 

इसके इस function की वजह से NOT GATE को inverter भी बोला जाता है। 

NOR Gate Kya Hai ?

इस लॉजिक सर्किट में भी 2 Inputs होते है और एक आउट्पुट होता है, NOR Gate का सिम्बल कुछ इस प्रकार का होता है -: 

NOR Gate

यह OR GATE और NOT GATE के मिश्रण से बनता है, इस GATE के आउट्पुटस का रिजल्ट OR GATE के Outputs से बिल्कुल उल्टा होते है, जो की आप इसके truth table को देख कर समझ सकते हो -:

ABY
001
010
100
110

हम यहाँ आपके लिए एक truth table ओर दर्शा रहे है, जिसमें हम OR GATE और NOR GATE दोनों के Outputs को एक साथ दिखाएंगे, जिससे आपको समझने में थोड़ी ओर आसानी होगी -:

ABY (OR GATE)Y (NOR GATE)
0001
0110
1010
1110

NAND Gate Kya Hai ?

इस लॉजिक सर्किट में भी दो Inputs होते है और एक आउट्पुट होता है, NAND Gate का सिम्बल कुछ इस प्रकार का होता है -: 

NAND Gate

यह NOT GATE और AND GATE का मिश्रण होता है, इस GATE के आउट्पुटस AND GATE के Outputs से बिल्कुल अलग होते है इस GATE का truth table कुछ इस प्रकार होता है -:

ABY
001
011
101
110

AND GATE और NAND GATE दोनों के Outputs के अंतर को अच्छे से समझने के लिए आप नीचे वाले truth table को देख सकते हो -:

ABY (AND GATE)Y (NAND GATE)
0001
0101
1001
1110

XOR Gate Kya Hai ?

XOR GATE को exclusive OR GATE भी कहा जाता है, इस लॉजिक सर्किट में भी दो Inputs होते है और एक आउट्पुट होता है, XOR Gate का सिम्बल कुछ इस प्रकार का होता है -: 

XOR Gate

यह एक ऐसा लॉजिक सर्किट होता है जो की आउट्पुट में केवल तभी सिग्नल दिखाएगा, जब केवल किसी एक इनपुट में सिग्नल हो, यानि या तो केवल इनपुट A में सिग्नल हो और या फिर केवल इनपुट B में सिग्नल हो। 

इसका truth table कुछ इस प्रकार का होगा -:

ABY
000
011
101
110

XNOR Gate Kya Hai ?

XNOR GATE को exclusive NOR GATE भी कहा जाता है, इस लॉजिक सर्किट में भी 2 इनपुटस होते है और एक आउट्पुट होता है, XNOR Gate का सिम्बल कुछ इस प्रकार का होता है -: 

XNOR Gate

यह GATE XOR GATE से बिल्कुल उल्टा काम करता है, यह GATE आउट्पुट में केवल तभी सिग्नल दिखाएगा, जब या तो दोनों इनपुटस में कोई सिगनल ना हो और या फिर दोनों ही Inputs में कोई सिग्नल हो, इसके truth table की मदद से आप इसे ओर अच्छे से समझ सकते हो -:

ABY
001
010
100
111

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमनें लॉजिक गेट के बारे में बात की और जाना कि लॉजिक गेट क्या है? (What is Logic Gate In Hindi) और लॉजिक गेट कितने प्रकार होते है? (Types of Logic Gates In Hindi)

दोस्तों आशा करता हु कि आज के इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको लॉजिक गेट क्या है? (What is Logic Gates In Hindi) से संबंधित सभी जानकारी मिल गई होगी |

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया है तो इस पोस्ट को अपने अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलिएगा ताकि उनको भी Logic Gate Kya Hai के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके |

अगर आपको अभी भी लॉजिक गेट (Logic Gates In Hindi) से संबंधित कोई भी प्रश्न या Doubt है तो आप कमेंट्स के जरिए हमसे पुछ सकते है। मैं आपके सभी सवालों का जवाब दूँगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है |

ऐसे ही नया टेक्नोलॉजी ,Computer Science से रिलेटेड जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर दीजिए | जिससे हमारी आने वाली नई पोस्ट की सूचनाएं जल्दी प्राप्त होगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *